बैठक का आयेाजन:कम्यूटेशन पेंशन की वसूली 14 साल के बजाय 10 साल में करो, पेंशन में 20 प्रतिशत वृद्धि दो

डूंगरपुर12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

राजस्थान सेवानिवृत विद्युत कर्मचारी संघ डूंगरपुर की बैठक संस्कार भवन में शनिवार को जिलाध्यक्ष और प्रदेश उपाध्यक्ष प्रकाश पंड्या के मुख्य आतिथ्य, वरिष्ठ कार्यकर्ता केशव सुथार की अध्यक्षता, प्रदेश मंत्री हरीश सोमपुरा और जिला भामसं के कार्यकारी अध्यक्ष मांगीलाल पंचाल के विशेष आतिथ्य में हुई। बैठक में विश्व कर्मा जयंती पर विस्तार से चर्चा करते हुए प्रदेश मंत्री ने इस दिन को श्रम दिवस घोषित करने की मांग की।

कम्युटेशन पेंशन की वसूली 14 साल के बजाय 10 साल में करने, 79 साल की आयु पूरी होते ही पेंशन में बीस प्रतिशत वृद्धि फिर, 84/89/94/99 वर्ष पूरे होते ही हर बार 20 प्रतिशत वृद्धि करने की भी मांग की। सभी विद्युत पेंशनर को सदस्य बनाया जाने का निर्णय लिया गया। जिलाध्यक्ष प्रकाश पंड्या ने प्रदेश संगठन द्वारा पेंशनर के हित में किए कामों का विस्तार से विवरण देते हुए बताया कि 1 अप्रैल 2016 के पूर्व के सेवानिवृत पेंशनर का सातवें वेतन आयोग में फिक्सेशन नहीं होने पर संगठन ने दो साल तक लगातार निगम से लेकर राज्य सरकार तक पत्र से लेकर व्यक्तिगत संपर्क तक लड़ाई लड़ी और विजय प्राप्त की।

बैठक में पीएमसीएफ के बारे में विस्तार से बताया कि किस श्रेणी में किसको कितना शुल्क देना है और आरजीएचउस के मुकाबले में पीएमसीएफ ही लाभदायक है। बकाया फिक्सेशन पेंशनर की जानकारी लेने उपखंड प्रभारी को दायित्व देते हुए उनका फिक्सेशन करने सर्विस बुक के अभाव में वेतन विवरण रजिस्टर सी वन से फिक्सेशन शीट के आधार पर करने निर्देश दिए।

बैठक में वृत कार्यालय में पेंशनर के लिए एक रूम आवंटित करने अधीक्षण अभियंता को पत्र लिखने का तय किया। साथ ही सभी सदस्य का विवरण मिलने के बाद संगठन का जिला अधिवेशन करने का निर्णय किया। बैठक में अमरसिंह सांखला उदयपुर को सेवानिवृत संगठन का राष्ट्रीय संयोजक बनाने पर बधाई दी गई। हाल ही सेवानिवृत हुए देवेन्द्र भट्ट,

इलियास कुरैशी को सदस्य बनाकर स्वागत किया। विशिष्ठ अतिथि मांगीलाल पंचाल ने जिले के पेंशनर की समस्या के बारे में अधिकारियों से लगातार संपर्क करने की बात कही। अध्यक्षता कर रहे केशव सुथार ने पेंशनर को अपने व्यक्तिगत कार्य के साथ समाज और राष्ट्र के बारे में भी चिंतन करना चाहिए और उनके काम में सहयोग करना चाहिए।

जिला महामंत्री जयंती लाल पंड्या ने व्रत अधिकारियों से समय समय पर हुई चर्चा का ब्योरा दिया और बताया कि अब पेंशन भी एक तारीख को ही अधिकतर जमा हो जाती है। बैठक में किरिट पंड्या, हरिप्रसाद उपाध्याय, हंसमुख भट्ट, देवेंद्र उपाध्याय, फैयाज, इलियास कुरेशी, नाथूलाल प्रजापत, गोपाल भावसार, हरीश चंद्र सिंह, भालचंद्र भट्ट, रामशंकर पंड्या, सुरेश दवे, प्रभुलाल और नटवर पंचाल मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...