युवती की मौत के तीसरे दिन हुआ पोस्टमार्टम:लिव इन में रही युवती की बीमारी से हुई थी मौत, युवती के पिता ने जताई थी हत्या की आशंका

डूंगरपुर2 महीने पहले
डूंगरपुर के कंथार फला झोथरी में लिव इन में रह रही एक युवती की बीमारी से मौत के मामले में तीसरे दिन सोमवार को शव का पोस्टमार्टम हुआ है।

डूंगरपुर के कंथार फला झोथरी में लिव इन में रह रही एक युवती की बीमारी से मौत के मामले में तीसरे दिन सोमवार को शव का पोस्टमार्टम हुआ है। मामले में मृतका के पिता और परिजन मौत पर संदेह जता रहे थे। पुलिस की ओर से निष्पक्ष जांच और कार्रवाई के आश्वासन के बाद मृतका के परिजन पोस्टमार्टम के लिए तैयार हुए थे। सोमवती पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया है और मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

चौरासी थानाधिकारी भेमजी गरासिया ने बताया कि पगारा निवासी रामचंद्र (58) पुत्र सोमा डामोर ने रिपोर्ट दर्ज कराई कि उसकी बेटी उर्मिला डामोर (21) ने 12वीं क्लास तक पढ़ाई की है। वहीं कंथार फला झोथरी निवासी सोमा पुत्र गोपाल रोत ने उसकी बेटी को पत्नी बनाकर रखा हुआ था। 19 नवम्बर को रामचंद्र को सूचना मिली की उसकी बेटी उर्मिला की मौत हो गई है। सूचना मिलने पर रामचंद्र अपने परिवार के साथ चौरासी थाने पहुंचा और मामले की जानकारी देते हुए पुलिस को लेकर सोमा के गांव कंथार फला पहुंचे। इस दौरान उर्मिला का शव चारपाई पर पड़ा हुआ था। पुलिस ने सोमा और उसके घर वालों से पूछताछ की तो उन्होंने बताया कि उर्मिला की तबीयत बिगड़ी थी, जिसके बाद उसे डूंगरपुर जिला अस्पताल लेकर गए थे। जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

मृतका के पिता ने उर्मिला की मौत के बाद उसका शव बिना पोस्टमार्टम करवाए घर लाने पर सोमा और उसके परिजनों पर संदेह जताया। इसके बाद पुलिस ने शव को मौके से उठवाकर डूंगरपुर जिला अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया। मृतका के पिता और परिजन कार्रवाई की मांग पर अड़े रहे, जिसके चलते 19 और 20 नवम्बर को शव का पोस्टमार्टम नहीं हो पाया। पुलिस की लगातार समझाइश और निष्पक्ष जांच के आश्वासन के बाद मृतका के परिजन पोस्टमार्टम के लिए माने। जिसके बाद पुलिस ने सोमवार को मेडिकल बोर्ड से शव का पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिया है और मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।