हनुमानगढ़ में 8 मई से चलेगा डेंगू रोधी अभियान:घर-घर सर्वे कर बुखार के रोगियों को चिन्हित करेगा चिकित्सा विभाग

हनुमानगढ़19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
चिकित्सा विभाग की टीमें घर-घर सर्वे कर एंटीलार्वल गतिविधियां करेगी। - Dainik Bhaskar
चिकित्सा विभाग की टीमें घर-घर सर्वे कर एंटीलार्वल गतिविधियां करेगी।

मौसमी बीमारियों की रोकथाम के मद्देनजर हनुमानगढ़ जिले में 8 से 15 मई तक 'डेंगू रोधी अभियान' चलाया जाएगा। अभियान के तहत जिले में डेंगू रोधी गतिविधियां आयोजित कर युद्धस्तर पर मलेरिया, डेंगू, चिकनगुनिया आदि वैक्टरजनित रोगों की रोकथाम व नियंत्रण हेतु मच्छरों पर हमला किया जाएगा।

सीएमएचओ डॉ. नवनीत शर्मा ने बताया कि मौसमी बीमारियों की रोकथाम के लिए जिले में एंटी डेंगू अभियान पहले से ही चल रहा है। अभियान की तैयारियों को लेकर ब्लॉक स्तर पर समस्त चिकित्सा अधिकारियों एवं कर्मचारियों को जिला स्तर से दिशा-निर्देश जारी किए जा चुके हैं। डॉ. शर्मा ने बताया कि अभियान के तहत आशा, एएनएम की टीमें घर-घर सर्वे कर मलेरिया, डेंगू, चिकनगुनिया के केसेज एवं हाई रिस्क क्षेत्र चिन्हित करेंगी। अभियान में गतिविधियों के आयोजन के लिए सर्वे एवं सुपरवाइजरी दल गठित कर दिया गया है। अभियान के तहत टीम घर-घर सर्वे कर कूलर, टंकी आदि को चेक करेगी और क्षेत्र में एंटीलार्वल, सोर्स रिडक्शन एवं एंटी एडल्ट गतिविधियां संपादित की जाएंगी एवं लॉजिस्टिक की उपलब्धता सुनिश्चित की जाएगी। सर्वे के दौरान ही क्षेत्र में एंटीलार्वल गतिविधि की जाएगी।

डॉ. शर्मा ने बताया कि बुखार के रोगियों के सैंपल इस अभियान के दौरान लिए जाएंगे। 16 मई को 'राष्ट्रीय डेंगू दिवस' मनाया जाएगा। इस अभियान का मुख्य उद्देश्य डेंगू के प्रति आमजन को जागरुक करना व डेंगू से बचाना व रोकथाम की जन जागृति पैदा करना है। डेंगू रोधी अभियान के तहत घर-घर सर्वे कर बुखार के रोगियों को चिन्हित कर उनका इलाज किया जाएगा। अभियान को लेकर सभी बीसीएमओ एवं चिकित्सा प्रभारियों को नियमित एंटीलार्वा गतिविधियों का आयोजन करने एवं सर्वे टीमों की मॉनिटरिंग करने के निर्देश जिलास्तर से जारी किए जा चुके है। डॉ. शर्मा ने आमजन से अपील करते हुए कहा कि अपने घरों में कूलर, परिंडे, छतों पर रखे खाली पड़े टायर, बर्तन, गमले की प्लेट आदि में भरे पानी को नियमित खाली कर सफाई करें, ताकि डेंगू का लार्वा पैदा न हों और हम डेंगू, मलेरिया की चेन को तोड़ सकें।