3 साल से फरार आरोपी गिरफ्तार:मर्डर के प्रयास के मामले में था वांछित, चाचा ने दर्ज करवाया था मामला

हनुमानगढ़3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मर्डर के प्रयास के करीब तीन साल पुराने मामले में फरार चल रहे वांछित आरोपी को पीलीबंगा पुलिस ने गिरफ्तार किया है। - Dainik Bhaskar
मर्डर के प्रयास के करीब तीन साल पुराने मामले में फरार चल रहे वांछित आरोपी को पीलीबंगा पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

मर्डर के प्रयास के करीब तीन साल पुराने मामले में फरार चल रहे वांछित आरोपी को पीलीबंगा पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपी राहुल पुत्र हंसराज जाट निवासी पण्डितांवाली है। उसे एसआई रजनदीप कौर के नेतृत्व में गठित कांस्टेबल रमेश कुमार व फुमनसिंह की टीम ने गिरफ्तार किया।

पीलीबंगा थाना प्रभारी विजय कुमार मीणा ने बताया कि एसपी के निर्देश तथा नोहर के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुरेश जांगिड़, रावतसर डीएसपी पूनम के निर्देशन में वांछित अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान के तहत अनुसंधान अधिकारी एसआई रजनदीप कौर के नेतृत्व में गठित पुलिस टीम ने वांछित आरोपी राहुल पुत्र हंसराज जाट निवासी पण्डितांवाली को गिरफ्तार किया है। आरोपी से पूछताछ जारी है।

4 अगस्त 2019 को प्रदीप कुमार पुत्र कालूराम जाट निवासी वार्ड 8, गांव पण्डितांवाली ने मुकदमा दर्ज करवाया था कि वह अपने खेत में जेसीबी मशीन से जमीन समतल करवा रहा था। तब उसका भतीजा राहुल पुत्र हंसराज अपने साथ रोहित पुत्र हेतराम शर्मा और आकाश पुत्र सुभाष गुसाईं निवासी पण्डितांवाली को लेकर आया। तीनों के हाथों में लाठियां थी। राहुल ने आते ही उसे कहा कि वह उनके खेत से मिट्टी क्यों उठा रहा है। राहुल ने खेत से मिट्टी उठाने से मना कर दिया।

तब उसने फोन कर अपने ताउ पृथ्वीराज पुत्र देवीलाल जाट निवासी पण्डितांवाली को बुलाया। जब उसके ताउ पृथ्वीराज खेत में आए तो राहुल ने जान से मारने की नियत से उसके ताउ के सिर पर लाठी से वार किया। लाठी की चोट उसके ताउ पृथ्वीराज के आंख पर लगी और खून निकलने लगा। उसके ताउ पृथ्वीराज वहीं गिर गए तो उनके गिरे हुए पर भी तीनों ने लाठियों से वार किए। उसने और अनुज कुमार ने उन्हें ललकारा तो वे तीनों भाग गए। जाते समय राहुल ने उसके ताउ पृथ्वीराज के गले से सोने की चेन झपटा मारकर छीन ली। वे उसके ताउ पृथ्वीराज को इलाज के लिए पीलीबंगा के सरकारी हॉस्पिटल पीलीबंगा लेकर गए। गम्भीर चोट होने के कारण उन्हें हनुमानगढ़ रेफर कर दिया है। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू की।