नोहर:तहसीलदार के आदेश के बाद विवादित भूमि पर लिया सरकारी कब्जा, करोड़ों रुपए के जमीन पर लंबे वक्त से चल रहा था विवाद

नोहर9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

नोहर क्षेत्र की बहुचर्चित बेशकीमती भूमि का मामला एक बार फिर चर्चा में हैं। चक 1 एनएचआर की 4 बीघा भूमि पर तहसीलदार राजस्व रामकुमार के रिसीवर नियुक्त करने के आदेश के बाद उक्त भूमि पर सरकारी कब्जा ले लिया गया। हल्का पटवारी अंजनी कुमार गिरदावर बृजेश पुनिया ने उक्त बेशकीमती भूमि पर सरकारी कब्जा ले लिया।

नोहर-भादरा मार्ग पर स्थित उक्त बेशकीमती भूमि को लेकर लम्बे समय से विवाद चल रहा हैं। उक्त भूमि बेशकीमती भूमि पर सरकारी कब्जा लेने के लिए गत दिनों में और निवासी फतेह मोहम्मद द्वारा तहसीलदार के समक्ष आवेदन किया था, जिसके बाद तहसील द्वारा द्वारा उच्च अधिकारियों से मार्गदर्शन प्राप्त करने के उपरांत उक्त भूमि पर रिसीवर नियुक्त कर सरकारी कब्जा लेने के निर्देश हल्का पटवारी व गिरदावर को दिए थे।

तहसीलदार द्वारा जारी आदेश में बताया गया हैं कि उक्त भूमि के संबंध में नोहर निवासी फतेह मोहम्मद पुत्र नूर मोहम्मद ने प्रार्थना पत्र प्रस्तुत कर उक्त भूमि की बागुजारी निरस्त कर रिसीवर बहाल करने का निवेदन किया था। तहसीलदार द्वारा जारी आदेश में वर्ष 2018 में अतिरिक्त जिला कलेक्टर द्वारा रिसीवर नियुक्त करने के आदेश में बहाल रखते हुए वर्ष 2019 में आदेश को निरस्त कर दिया गया हैं। मौके पर हलका पटवारी और गिरदावर की ओर से उक्त भूमि पर संग्रहण किए गए तुड़े को अति शीघ्र को हटाने के लिए भी तुड़े मालिक को पाबंद किया गया। गौरतलब है कि वर्तमान में करोड़ों रुपए की उक्त भूमि लंबे समय से विवादित है

खबरें और भी हैं...