पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Agra
  • Many Families Uprooted By The Negligence Of The Aligarh Poisonous Liquor Scandal System; Some Lost Their Husband, Some Lost Their Young Son;

अलीगढ़ जहरीली शराब कांड:सिस्टम की लापरवाही; कई दिनों से बिक रहा था यह 'जहर', बेटा बोला- अस्पताल में नहीं मिला इलाज, पिता ने तोड़ दिया दम

अलीगढ़4 महीने पहले
यूपी के अलीगढ़ में जहरीली शराब �

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले में जहरीली शराब के कहर से कई परिवार उजड़ गए। बताया जाता है कि सरकारी ठेके पर पिछले कई दिनों से जहरीली शराब बिक रही थी, जिसे पीने से लोग बीमार पड़ने लगे और एक-एक करके 17 लोगों की मौत हो गई जबकि कई लोग बीमार हैं। घटना से किसी परिवार का इकलौता सहारा छिन गया तो किसी मां के बुढ़ापे की लाठी। इस दौरान अस्पताल से भी एक दर्दनाक मामला सामने आया जब एक बेटा अपने पिता को लेकर अस्पताल पहुंचा। पिता की सांसें चल रही थीं लेकिन बेटा बेरहम सिस्टम के आगे हार गया और उसकी आंखों के सामने पिता ने दम तोड़ दिया।

जहरीली शराब पीने से मरने वाले जयपाल के पुत्र कपिल कुमार आरोप लगाते हुए कहा- ''मैं सुबह अपने पिता को लेकर अस्पताल पहुंचा तो डॉक्टर बोले- यहां बेड नहीं है। जब सीएमओ के पास पहुंचा तो सीएमओ ने कहा कि एक बेड है लेकिन वह किसी और के लिए है।''

जहरीली शराब पीने के बाद कपिल के पिता की मौत हो गई। इनका आरोप है कि अस्पताल में बेड खाली होने के बावजूद पिता को एडिमट नहीं किया गया। इसी बीच 30 मिनट के भीतर उनकी मौत हो गई।
जहरीली शराब पीने के बाद कपिल के पिता की मौत हो गई। इनका आरोप है कि अस्पताल में बेड खाली होने के बावजूद पिता को एडिमट नहीं किया गया। इसी बीच 30 मिनट के भीतर उनकी मौत हो गई।

कपिल का आरोप है कि उसके पिता को अगर समय से बेड मिल जाता तो शायद वह बच जाते। बेड की आपाधापी में करीब 30 मिनट बाद पिता की मौत हो गई।

जहरीली शराब ने एक मां के बुढापे का सहारा भी छीन लिया। पुष्पा ने बताया कि बेटे ने गुरुवार रात को ठेके से खरीदकर शराब पी थी। आज सुबह उसकी मौत हो गई।
जहरीली शराब ने एक मां के बुढापे का सहारा भी छीन लिया। पुष्पा ने बताया कि बेटे ने गुरुवार रात को ठेके से खरीदकर शराब पी थी। आज सुबह उसकी मौत हो गई।

बूढी मां के बुढापे का सहारा अब नहीं रहा

अलीगढ़ के करसुआ गांव में रहने वाली पुष्पा के बेटे राजेश की मौत हो गई। वह परिवार की गुजर-बसर का इकलौता सहारा था। उसके मरने के बाद परिवार के सामने रोजी रोटी का भी संकट पैदा हो गया है। बेटे को खो चुकीं पुष्पा ने बताया कि गांव में बने देसी शराब के ठेके से बेटे ने कल रात को शराब पी थी। उसके साथ कई और लोगों ने भी शराब पी थी। पुष्पा बताती हैं कि राजेश की उम्र 33 साल थी। उसकी कमाई से ही परिवार चलता था।

पति को खोने का अंतहीन दर्द, कैसे चलेगा परिवार

जहरीली शराब से पति को खोने वाली विमलेश का दर्द भी अंतहीन है। अपने दर्द को बयां करते हुए उन्होंने बताया कि पति राजेंद्न ने सरकारी ठेके से दारू खरीदकर पी थी। पति उनके जाने के बाद अब परिवार कैसे चलेगा। जिन लोगों ने जहरीली शराब बेची है उनके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए। वह खत्म हो गए। लोग बता रहे हैं कि सात लोग मर गए हैं।

गांव के ही रहने वाले पंकज के बड़े भाई महेश की मौत हो गई। शराब पीने के बाद अचानक उनकी तबियत बिगड़ी और उन्होंने दम तोड़ दिया।
गांव के ही रहने वाले पंकज के बड़े भाई महेश की मौत हो गई। शराब पीने के बाद अचानक उनकी तबियत बिगड़ी और उन्होंने दम तोड़ दिया।

घटना को याद कर भावुक हुए गांव वाले

हादसे के करसुआ गांव में गम का माहौल बना हुआ है। यहां रहने वाले पंकज सिंह इस घटना की बात करते हुए फफककर रो पड़े। पंकज सिंह बताते हैं कि बडे भाई महेश ने रात को ठेके से शराब खरीदकर पी थी। शराब पीने के बाद उनकी हालत बिगड़ गई जिससे सभी लोग घबरा गए। लेकिन हम उनको बचा नहीं सके। उनके साथ ही तीन अन्य लोगों की भी मौत हो गई है।

गांव के बुजुर्ग रंजीत सिंह ने बताया कि पिछले दो-तीन दिनों से ठेके से शराब पीकर लोग बीमार पड़ रह थे। लेकिन प्रशासन ने ध्यान नहीं दिया।
गांव के बुजुर्ग रंजीत सिंह ने बताया कि पिछले दो-तीन दिनों से ठेके से शराब पीकर लोग बीमार पड़ रह थे। लेकिन प्रशासन ने ध्यान नहीं दिया।

करसुआ गांव के ही रंजीत सिंह ने बताया कि गांव में ऐसा पहली बार हुआ है कि जहरीली शराब पीने से इतने लोगों की मौत हुई है। गांव के बाहर दो-तीन दिनों से शराब बिक रही थी। शराब पीकर कई लोग मरे हैं। चार-पांच लोग प्लांट से मरे हैं। तीन गांव से मरे हैं। शराब पीने से सभी लोग बीमार हुए और उनकी मौत हो गई।

शादी की तैयारियां मातम में बदलीं
अलीगढ़ के करसुआ गांव के ही एक अन्य मृतक ओम प्रकाश के घर में 5 जून को उसके दो बेटे प्रदीप और नीरज की शादी हाथरस से होनी थी। घर में शादी की तैयारी चल रही थी। अचानक खुशियां गम में बदल गईं। ओम प्रकाश के बेटे नीरज ने बताया कि वह अपने पिता के लिए 2 दिन पहले ठेके से शराब खरीदकर लेकर आया था। शराब पीने के बाद उनकी तबियत खराब होने लगी। उल्टी लगातार हो रही थी। उसके बाद इनकी मौत हो गई।

खबरें और भी हैं...