पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

रेलवे से एमएसटी शुरू करने की गुहार:कोरोनाकाल से पहले 335 रुपए की एमएसटी से एक महीने जयपुर आ-जा रहे थे डेली पैजेंसर, अब दे रहे 2500 रुपए

बांदीकुई2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • बांदीकुई के 800 से अधिक डेली पैजेंसर को मिलेगा फायदा

वैश्विक महामारी कोरोना और बढ़ती महंगाई से लोग पहले से ही त्रस्त है। वहीं रेलवे ने एमएसटी (मंथली सीजन टिकट) सुविधा को बंद कर डेली पैसेंजरों की जेब ढीली कर दी है। कोरोनाकाल से पहले बांदीकुई जंक्शन से जयपुर जाने वाले डेली पैसेंजर 355 रुपए की एमएसटी में एक महीने तक आ जाते थे। लेकिन अब यह सुविधा बंद होने के बाद इन डेली पैसेंजरों को एक महीने में 2500 रुपए तक का किराया रेलवे को चुकाना पड़ रहा है। यदि रेलवे इस सुविधा को फिर से चालू करें तो बांदीकुई जंक्शन के रोजाना 800 से अधिक डेली पैसेंजरों को इसका लाभ मिलेगा।

मार्च 2020 में आई कोरोना महामारी के बाद रेलवे ने एमएसटी सुविधा को बंद कर दिया था। इसके बाद बीच- बीच में कोरोना के कारण ट्रेनें बंद हुई और चालू भी हुई। लेकिन डेढ़ साल गुजर जाने के बाद भी रेलवे ने बंद एमएसटी सुविधा को शुरू नहीं किया। इस सुविधा बंद होने से इससे सबसे ज्यादा परेशानी बांदीकुई जंक्शन से रोजाना जयपुर, दौसा, अलवर व भरतपुर की और जाने डेली पैसेंजरों को झेलनी पड़ रही है। उन्हें रेलवे को एक महीने में करीब पांच गुना किराया देना पड़ रहा है।

एमएसटी बंद होने से दोगुना किराया देना पड़ रहा

डेली पैसेंजरों ने बताया कि एमएसटी तो पहले से बंद है। इसके बाद रेलवे ने पैसेंजर ट्रेनों के संचालन तो कर दिया लेकिन राहत देने की जगह जनरल टिकट का किराया दोगुना कर दिया। पहले बांदीकुई से जयपुर का किराया 25 रुपए था जो अब 50 रुपए कर दिया। इसी प्रकार अलवर का किराया 20 से 40 रुपए, भरतपुर का 25 से 50 व दौसा का 15 से 30 रुपए किराया कर दिया। डेली पैसेंजरों ने बताया कि पहले ही कोरोना व बढ़ती महंगाई के कारण आर्थिक तंगी झेल रहे हैं। ऐसे में रेलवे को एमएसटी सुविधा को फिर से चालू करना चाहिए। यह सुविधा हो जाए तो इससे सबसे ज्यादा फायदा मजदूरी करने वालों को मिलेगा।

ऐसे हो रही पैसेंजरों की जेब ढीली
कोरोनाकाल से एक महीने के लिए बांदीकुई से जयपुर की एक्सप्रेस ट्रेन की एमएसटी 355 रुपए में, बांदीकुई से अलवर की 270 रुपए, दौसा 185 रुपए व भरतपुर की 500 रुपए में एमएसटी बन जाती थी। इससे यात्री एक महीने तक पैसेंजर व एक्सप्रेस ट्रेनों में एमएसटी दिखाकर आ जाते थे लेकिन अब एमएसटी बंद है। वर्तमान में बांदीकुई से रोजाना आने जाने वाले डेली पैसेंजरों के लिए रेलवे ने पैसेंजर ट्रेने संचालित कर रखी है।

इन ट्रेनों में डेली पैसेंजरों को बांदीकुई से जयपुर के बीच आने जाने का रोजाना 60 से 100 रुपए, दौसा का 60 रुपए, भरतपुर का 60 से 100 रुपए व अलवर का 80 रुपए किराया देना पड़ रहा है। एक महीने में करीब 2 से ढाई हजार रुपए तक खर्च करने पड़ रहे हैं।

खबरें और भी हैं...