नगरपालिका चेयरमैन के पति कोरोना पॉजिटिव:11 माह बाद होने वाली बोर्ड बैठक स्थगित, नाराज पार्षदों ने दी आंदोलन की चेतावनी

बांदीकुई6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

नगरपालिका बोर्ड की गत 11 माह बाद होने वाली बैठक स्थगित हो गई। इस बैठक के स्थगित होने का कारण चेयरमैन इंदिरा बैरवा के पति का कोरोना पॉजिटिव बताया जा रहा है। लंबे समय से बैठक नहीं होने से नाराज भाजपा व निर्दलीय पार्षदों ने एसडीएम व पालिका ईओ को ज्ञापन सौंपकर हठधर्मिता का आरोप लगाया। साथ ही चेतावनी दी कि शीघ्र बोर्ड बैठक नहीं बुलाई गई तो आंदोलन किया जाएगा।

ज्ञापन में पार्षदों ने कहा कि नगरपालिका की हठधर्मिता व तानाशाही के कारण बोर्ड बैठक नहीं बुलाई जा रही हैं। जबकि नियमानुसार शहर के विकास व आमजन की सुविधा के लिए हर दो माह में बोर्ड बैठक आयोजित करने का प्रावधान हैं।

उन्होंने बताया कि गुरुवार को बोर्ड बैठक आयोजित होनी थी लेकिन अधिशाषी अधिकारी ने कोरोना गाइडलाइन का हवाला देते हुए इसे निरस्त कर दिया। उन्होंने कहा कि जब बोर्ड बैठक नहीं करनी थी तो 5 जनवरी को सूचना क्यों दी गई। उस समय भी कोरोना गाइडलाइन थी।

वहीं इस संबंध में नगर पालिका चेयरमैन इंदिरा बैरवा का कहना है कि मेरे पति गत दिनों कोरोना पॉजिटिव हो गए थे। इस कारण मैं क्वारैंटाइन हूं। कोरोना गाइडलाइन के कारण बोर्ड बैठक स्थगित की गई है।

पार्षदों ने कहा कि बोर्ड बैठक हो तभी शहर में विकास कार्य हो सकेंगे। लंबे समय से बोर्ड बैठक नहीं होने के कारण लोगों में रोष व्याप्त है। पार्षदो ने चेतावनी दी कि यदि जल्द ही बोर्ड बैठक आयोजित नहीं की गई तो पालिका कार्यालय का घेराव किया जाएगा।

इस दौरान पार्षद कुसुम शर्मा, राधामोहन डंगायच, रामभरोसी मीना, ममता शाहरा, रेणु बैरवा, शरबती देवी, पार्षद महेंद्र दैमन, दिलीप सैनी, नीरज रावत, आरती डंगोरिया, भाजपा शहर अध्यक्ष मनोज टोड़वाल, महिला मोर्चा अध्यक्ष अर्चना शर्मा, किसान मोर्चा अध्यक्ष रामसिंह तंवर, पूर्व पार्षद नरसिंह सैनी, महेंद्र जारवाल, नीरज शर्मा, रविंद्र शाहरा, सुनील चौबे सहित अन्य मौजूद थे।

बांदीकुई में 2 जनवरी से लेकर अभी तक कोरोना के 68 केस सामने आए हैं, इनमें करीब 50 एक्टिव केस है। रोजाना 200 से अधिक लोगों के सैंपल लिए जा रहे हैं।

खबरें और भी हैं...