पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सतर्कता जरूरी:बांदीकुई जंक्शन में 35 दिन में बाहरी राज्यों से आए 1876 में से 600 यात्रियों को किया होम क्वारेंटाइन

बांदीकुईएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रेलवे जंक्शन पर बाहरी राज्यों से आए यात्री की जांच करती मेडिकल टीम। - Dainik Bhaskar
रेलवे जंक्शन पर बाहरी राज्यों से आए यात्री की जांच करती मेडिकल टीम।
  • बीएलओ के माध्यम से हो रही निगरानी, बाहर घूमते मिले तो होगी कार्रवाई

रेलवे जंक्शन पर बाहरी राज्यों से आने वाले यात्रियों की जांच में जुटी मेडिकल टीम 35 दिन में जंक्शन पर कुल 1876 यात्रियों की जांच कर चुकी है। इनमें से अपनी नेगेटिव रिपोर्ट नहीं लाने वाले 600 यात्रियों को मेडिकल टीम होम क्वारेंटाइन कर चुकी है। अब इन सभी की बीएलओ के माध्यम से निगरानी हो रही है।

कोरोना संक्रमण नहीं फैले इसे लेकर राज्य सरकार के निर्देश पर बांदीकुई जंक्शन पर 27 मार्च से मेडिकल टीम को तैनात किया था। टीम यहां ट्रेनों से बाहरी राज्यों से आने वाले यात्रियों की जांच कर रही है। इसमें यात्रियों के पास होने वाली कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट भी देख रही है। टीम ने गत 35 दिनों में जंक्शन पर दिल्ली, हरियाणा, यूपी, उतराखंड, अहमदाबाद सहित अन्य राज्यों से आए कुल 1876 यात्रियों की जांच की।

इसमें से 600 यात्री ऐसे थे जिनके पास कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट नहीं थी। इन सभी यात्रियों को होम क्वारेंटाइन करने के लिए प्रमाण पत्र दिए गए। टीम ने बताया कि जिन भी यात्रियों को 14 दिन के लिए होम क्वारेंटाइन किया है उन सभी के मोबाइल नंबर लेकर इसकी सूचना एसडीएम कार्यालय को भेजी गई है। जहां से संबधित बीएलओ के माध्यम से इन सभी की निगरानी करवाई जा रही है। उन्होंने बताया कि जिसे होम क्वारेंटाइन किया है वह बाहर घूमता मिलेगा तो प्रशासन उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

दिल्ली में सबसे बुरा हाल, वहीं से ज्यादा आ रहे यात्री

बांदीकुई जंक्शन पर बाहरी राज्यों से आने वाले यात्रियों में सर्वाधिक दिल्ली से आए है। जबकि दिल्ली में कोरोना का सबसे बुरा हाल है। गौर करने लायक बात तो यह है कि दिल्ली से आने वाले यात्री अपने साथ कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट भी नहीं ला रहे है। इससे क्षेत्र में संक्रमण फैलने का अंदेशा बना हुआ है। रेलवे जंक्शन पर बाहरी राज्यों से आए यात्री की जांच करती मेडिकल टीम।

खबरें और भी हैं...