पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

परशुराम जन्मोत्सव:कोरोना संकट में वर्चुअल होगा परशुराम जन्मोत्सव

बांदीकुई2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

परशुराम सेवा समिति बांदीकुई की ओर से भगवान परशुराम जन्मोत्सव को ऐतिहासिक व यादगार मनाया जाएगा। परशुराम सेवा समिति बांदीकुई की गुरुवार को आयोजित वर्चुअल मीटिंग में परशुराम भगवान के जन्मोत्सव को ऐतिहासिक एवं अद्वितीय रुप में मनाने का निर्णय किया गया।परशुराम सेवा समिति के अध्यक्ष अरुण त्रिवेदी ने बताया कि जन्मोत्सव वर्चुअल तरीके से भगवान परशुराम जी की कथा, चालीसा, पूजा अर्चना के साथ मनाया जाएगा। कोरोना महामारी के चलते गत वर्ष भी भगवान परशुराम जन्मोत्सव पर होने वाले कार्यक्रम को अमलीजामा नहीं पहनाया जा सका और इस कारण शोभायात्रा जैसा कोई बड़ा कार्यक्रम नहीं किया जा सका, लेकिन वर्चुअल तरीके से भगवान परशुराम जन्मोत्सव पर सामूहिक सुंदरकांड का पठन कर एक ऐतिहासिक, अद्वितीय कार्यक्रम किया गया था।

इस वर्ष भी वर्चुअल तरीके से जन्मोत्सव को मनाया जाएगा। पूर्व अध्यक्ष रवि पालीवाल ने बताया कि अक्षय तृतीया पर सुबह 9:15 बजे कार्यक्रम शुरू होगा और पूरे जिलेभर के सर्व समाज के लोग एक साथ, एक ही समय पर भगवान परशुराम जी का पूजन करेंगे और भगवान परशुराम जी की कथा का श्रवण करेंगे। गत वर्ष भी लगभग पौने दो लाख लोगों ने भगवान परशुराम जन्मोत्सव पर होने वाले ऑनलाइन सुंदरकांड को देखा था। समिति के संरक्षक अनंत गौड़ ने अक्षय तृतीया की संध्या पर अपने मुख्य द्वार पर घी के 11 दीपक जलाने की अपील की।

खबरें और भी हैं...