बांदीकुई में छाई रही धुंध:मकर संक्रांति के बाद भी नहीं खुला मौसम, विजिबिलिटी रही 15 मीटर, 40 मिनट से आई खजुराहो इंटरसिटी

बांदीकुई11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

मकर सक्रांति के बाद शनिवार सुबह बांदीकुई शहर में धुंध छाई रही। 15 मीटर की दूरी पर कुछ भी दिखाई नहीं दिया। चालकों ने वाहनों की हेड लाइट जलाकर सफर किया।

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार मकर सक्रांति के बाद तेज ठंड एवं कोहरे के प्रकोप को कम होना माना जाता है। इस बार मकर सक्रांति के बाद भी शनिवार को मौसम साफ नहीं हुआ। सुबह से ही धुंध छाई रही।

कोहरे के कारण सुबह ट्रेनों को हेड जलाकर 50-60 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलाया गया।
कोहरे के कारण सुबह ट्रेनों को हेड जलाकर 50-60 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलाया गया।

शहर के प्रमुख बाजारों में घना कोहरा होने के कारण विजिबिलिटी बेहद कम थी। बांदीकुई से गुजरने वाले जयपुर दिल्ली एवं आगरा रेल मार्ग पर भी कोहरा होने से ट्रेनों की स्पीड 50 से 60 के बीच रही। कोहरे के कारण उदयपुर से खजुराहो जाने वाली इंटरसिटी करीब 40 मिनट की देरी से सुबह 8:00 बजे बांदीकुई जंक्शन पहुंचीI

खबरें और भी हैं...