प्रशासन की खानापूर्ति:आमुखीकरण प्रशिक्षण शाम 5 बजे तक चलना था, 1 बजे ही समाप्त, बीडीओ बोले- लंच के बाद सभी चले गए तो किसको देते प्रशिक्षण

प्रतापगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पंचायत समिति प्रतापगढ़ में जनप्रतिनिधियों और ब्लॉक स्तर के अधिकारियों का दो दिवसीय आमुखीकरण प्रशिक्षण मंगलवार से शुरू हुआ। बुधवार को इसका समापन होगा। लेकिन, प्रशिक्षण के पहले दिन केवल खानापूर्ति ही नजर आई। क्योंकि प्रशिक्षण का समय सुबह 10 से लेकर शाम 5 बजे तक निर्धारित किया गया है, लेकिन मंगलवार को दोपहर 1 बजे लंच के बाद प्रशिक्षण समाप्त कर दिया गया।

इस दौरान वार्ड 16 कुणी और मचलाना से पंचायत समिति सदस्य सुभाष कुमावत यहां पर पहुंचे। उन्होंने देखा कि सभा कक्ष बंद है और सभी चले गए हैं। इस पर उन्होंने प्रतापगढ़ के पंचायत समिति विकास अधिकारी पवन तलाईच से बात की तो उन्हें पता चला कि आज का प्रशिक्षण तो पूरा हो गया है। इस पर उन्होंने नाराजगी जाहिर की। उन्होंने कहा कि जब प्रशिक्षण का समय शाम 5 बजे तक रखा गया है तो जनप्रतिनिधियों को समय अनुसार प्रशिक्षण दिया जाना चाहिए ताकि उनके कार्य में दिक्कत नहीं आए।

राष्ट्रीय ग्राम स्वराज अभियान योजना के तहत पंचायत स्तर पर इस तरह का प्रशिक्षण आयोजित होता है। इसमें सभी विभागों के अधिकारी यहां आने वाले जनप्रतिनिधियों को अपने विभाग से संबंधित जन कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी देते हैं ताकि जनप्रतिनिधि अपने अपने क्षेत्र में इन योजनाओं को लेकर आमजन को जानकारी दे सके। इसके बाद आम आदमी उसका फायदा उठा सके। इसलिए इस प्रशिक्षण का काफी महत्व होता है। अगर यह प्रशिक्षण नहीं हो तो जनप्रतिनिधियों तक विभाग से संबंधित योजनाओं और जनकल्याणकारी नीतियों की बात पहुंचने का दूसरा कोई सीधा माध्यम नहीं है। इसी के आधार पर जनप्रतिनिधि अपने क्षेत्र में विकास की योजनाएं बना सकते हैं।

साल में एक बार ही मिलता है प्रशिक्षण

राज्य ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज्य संस्थान की ओर से इस तरह के प्रशिक्षण का साल में केवल एक ही बार आयोजन होता है। साल भर में होने वाली नई योजनाओं, जन कल्याणकारी नीतियों को लेकर जनप्रतिनिधियों को बताया जाता है ताकि अपने क्षेत्र में वह आने वाले लोगों को इसका लाभ दिलवा सकें। अगर इस प्रशिक्षण से चूक गए तो आमजन तक इसका लाभ जनप्रतिनिधि नहीं पहुंचा पाते।

बुधवार को भी चलेगा प्रशिक्षण
^जब लंच समय के बाद सभी लोग यहां से चले गए तो ऐसे में किसको ट्रेनिंग दें। ट्रेनिंग लेने के लिए उनकी मौजूदगी भी होना जरूरी है। प्रशिक्षण का कार्यक्रम बुधवार को भी जारी रहेगा। सभी समय से पहुंचे और प्रशिक्षण का हिस्सा बनें।
- पवन कुमार तलाईच, बीडीओ, पंचायत समिति
निर्धारित समय तक प्रशिक्षण देना चाहिए : पंचायत समिति सदस्य
^घर में जरूरी काम होने के चलते मैं दोपहर एक बजे प्रशिक्षण में हिस्सा लेने के लिए पहुंच सका, लेकिन जब यहां आया तो आगे सभाकक्ष बंद पड़ा था और कोई भी नहीं था। समय जब 5 बजे का निर्धारित कर रखा है तो निर्धारित समय तक प्रशिक्षण देना चाहिए। खानापूर्ति का क्या मतलब हुआ।
- सुभाष कुमावत, पंचायत समिति सदस्य, प्रतापगढ़

खबरें और भी हैं...