समस्या / बौंली ब्लॉक के 19 आयुर्वेदिक औषधालयों में डेढ़ माह से लटके हैं ताले, मरीज परेशान

19 Ayurvedic dispensaries in Baunli block have locks for one and a half months, patients upset
X
19 Ayurvedic dispensaries in Baunli block have locks for one and a half months, patients upset

  • सभी कार्मिक लगे हैं कोरोना ड्यूटी में

दैनिक भास्कर

Jun 02, 2020, 05:02 AM IST

बौंली. कोरोना वैश्विक महामारी के चलते बौंली ब्लॉक के 19 आयुर्वेदिक औषधालयों के डेढ़ माह से ताले लटके हुए है। जिसके कारण संबंधित क्षेत्र के रोगियों को आयुर्वेद चिकित्सा सेवा का लाभ नहीं मिल पा रहा है। 

गौरतलब है कि कोरोना वैश्विक महामारी के चलते ब्लॉक कर मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा डेढ़ माह से भी अधिक समय पहले ब्लॉक के 19 आयुर्वेदिक औषधालयों में कार्यरत चिकित्सा अधिकारियों सहित स्टाफ सदस्यों को कोरोना ड्यूटी में लगा दिया गया था। जिसके बाद से आयुर्वेद औषधालयों में कार्यरत सभी कर्मियों के कोरोना ड्यूटी में चले जाने से  औषधालयों पर ताले लग गए जिसके कारण लोगो को परेशानी होने लगी। 
ये हैं बौंली ब्लॉक में आयुर्वेद औषधालय 
 बौंली ब्लॉक में बौंली, शिशोलाव, झनून, लाखनपुर, पिपलवाड़ा, मित्रपुरा, गोतोड़, जस्टाना, निमोद राठौद, गालद कला, पीपल्दा, मलारना डूंगर,मलारना चौड़, मलारना स्टेशन, नीमोद करेल, खिरनी, बिच्छीदोना, शेषा, एबरा में आयुर्वेद औषधालय है। जिनके चिकित्साधिकारी सहित अन्य कार्मिक कोरोना ड्यूटी में लगे होने से बंद है। 
पेंशनभोगी व वृद्ध लोगों को हो रही है दिक्कत
आयुर्वेद औषधालयों के बंद होने से आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति से उपचार करवाने वाले रोगी परेशान है। कई पेन्शनर एवं वृद्ध लोग जो लंबे समय से आयुर्वेद उपचार ले रहे है उनको काफी परेशानी हो रही है। बौंली जैन समाज के अध्यक्ष मनोज कुमार सौगानी ने बताया कि वे लंबे समय से आयुर्वेद का उपचार ले रहे है, लेकिन इन दिनों आयुर्वेद औषधालय बंद होने से उन्हें परेशानी हो रही है। उन्होंने जिला कलेक्टर को ई मेल सन्देश भेजकर औषधालयों को खुलवाने की मांग की है।
कार्यरत कार्मिकों को वापस लगाना चाहिए
कमलेश देवी जोशी बौंली सरपंच का कहना है कि बौंली उपखण्ड मुख्यालय का आयुर्वेदिक औषधालय के बंद होने से कई बुजुर्गों व अन्य आयुर्वेद चिकित्सा पध्दति से उपचार करवाने वाले लोगों को परेशानी हो रही है। बौंली के आयुर्वेदिक औषधालय पर वहां कार्यरत कार्मिकों को वापस लगाकर औषधालय को खोला जाना चाहिए। 
रिलीव होने पर पुन: सेवा शुरू कर दी जाएगी
आयुर्वेदिक चिकित्सक डॉ सत्य प्रकाश शर्मा, गालद के डॉक्टर मनोज शर्मा व झनून के डॉ रमाकांत बंसल ने बताया कि आयुर्वेद औषधालयों के चिकित्सकों एवं कार्मिकों की ड्यूटी कोरोना ड्यूटी के तहत लगी हुई है। जिसके कारण औषधालय अभी बन्द है। यहां से रिलीव होने पर पुनः औषधालयों में सेवा शुरू कर दी जाएगी।
कार्मिकों को कोरोना ड‌‌यूटी में लगाया गया
इस संबंध में जिले के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ तेजराम मीना ने बताया कि राज्य सरकार के आदेशानुसार आयुर्वेद औषधालयों के कार्मिकों को कोरोना ड्यूटी में लगाया गया है। सरकार से इनको रिलीव करने के आदेश मिलने पर रिलीव किया जाएगा।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना