राम नाम लेखन का श्रीगणेश:राम नाम स्तूप बनाने के लिए पंचगव्य से तैयार 104 पेज की राम नाम पुस्तक, हजारों लोग लिखेंगे राम का नाम

चौमू10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

हिरनोदा आसलपुर रोड बोराज में महालक्ष्मी नारायण धाम राम नाम स्तूप बनाने के लिए राम नाम लेखन का श्रीगणेश किया गया। शुभारंभ मुख्य अतिथि अखिल भारतीय सह संगठन मंत्री भारतीय किसान संघ गुजरात गजेन्द्रसिंह, पंडित सुरेश शर्मा, विश्व हिन्दू परिषद के जिलाध्यक्ष शिवजी राम कुमावत ने पुस्तक में राम नाम लिखकर किया। इस मौके पर गोभक्त एडवोकेट रामलाल कुमावत, युवा नेता आशु सिंह सुरपुरा, बोराज सरपंच सुरेंद्र सिंह मीणा, विष्णु दास महाराज, एमपीएस धर्मेंद्र कुमावत, मनमोहन, कानाराम प्रजापत सहित गोभक्त मौजूद थे। धाम के संयोजक शिवजीराम कुमावत ने बताया कि गाय के गव्यों से तैयार कागज से बनी पुस्तक में हजारों भक्त राम नाम लिखेंगे। उन पुस्तकों का विशाल स्तूप यहां बनाया जाएगा।

पुस्तक के बारे में प्रेरक और कृषि उपज मंडी नोहर के सचिव पंडित विष्णु दत्त शर्मा ने बताया कि गाय के गोबर में गोमूत्र, गो दुग्ध, गो-दही, गोघृत के साथ कागज की लुगदी और कपड़ा आदि के माध्यम से हैंडमेड पेपर तैयार करवाया गया है। इस पेपर से हनुमान चालीसा की टीका लिखी गई एवं अब पेपर पर लाखों करोड़ों की संख्या में राम नाम लिखा जाएगा। जिसका स्तूप सभी को प्रेरणा देगा। वहीं कागज के रूप में पंचगव्य का उपयोग गाय के उत्पादों की कीमत बढ़ाएगा। इससे गोवंश की रक्षा सुनिश्चित होगी। केवल राम नाम ही नहीं धीरे-धीरे अन्य उपयोग जैसे बही खाता आदि में भी पंचगव्य का यह कागज काम आकर गोवंश की रक्षा का माध्यम बनेगा। पुस्तक में 104 पृष्ठ हैं।

खबरें और भी हैं...