कोरोना प्रोटोकॉल की उड़ रही धज्जियां:लापरवाह लोग बिना मास्क आए नजर, कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए पुलिस ने निकाली थी जागरूकता रैली

चौमूं4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
यात्री विश्राम स्थल के बाहर बैठे बिना मास्क लगाए लोग। - Dainik Bhaskar
यात्री विश्राम स्थल के बाहर बैठे बिना मास्क लगाए लोग।

प्रदेश में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण व ओमिक्रॉन वैरिएंट के मामलों को लेकर लोग अभी भी गंभीर नहीं है। बाजार में आवाजाही करने वाले लोग लापरवाह दिख रहे है। चौमूं पुलिस ने गुरुवार को ही शहर के मुख्य बाजार में कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर जागरूकता रैली निकाली थी और बिना मास्क वाले लोगों के चालान भी काटे गए थे। दूसरे दिन ही कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए निकाली गई जागरूकता रैली का कोई असर देखने को नहीं मिला। लोग अभी भी लापरवाही से बाज नहीं आ रहे हैं। जिससे कोरोना संक्रमण के बढ़ते आंकड़ों को लेकर तीसरी लहर की आशंका बनी हुई है। इस कोरोना के बढ़ते आंकड़ों को लेकर बच्चों की बीमारियों का भी खतरा बढ़ रहा है। सरकारी और निजी अस्पतालों की ओपीडी संख्या में भी इजाफा होने लगा है।

यात्री विश्राम स्थल पर बिना मास्क दिखे लोग
चौमूं शहर के मुख्य बस स्टैंड पर सैकड़ों यात्रियों की आवाजाही रहती है। इसको लेकर स्थानीय प्रशासन की लापरवाही भी देखने को मिली है। यात्री विश्राम पर बैठे अधिकतर लोग बिना मास्क के नजर आए। जिससे कोरोना संक्रमण बढ़ने का खतरा मंडरा रहा है। शहर के मुख्य बाजार में आवाजाही करने वाले लोग भी अधिकतर बिना मास्क के नजर आ रहे है।

बच्चों में खांसी-जुकाम की शिकायत
अचानक मौसम बदलाव के कारण भी बच्चों में भी बीमारी बढ़ने के लगातार केस सामने आ रहे हैं। जिनमें अधिकतर बच्चे खांसी-जुकाम और बुखार की शिकायत वाले हैं। सीएचसी कोविड प्रभारी डॉ. राहुल गुर्जर ने बताया कि अधिकतर बच्चों में खांसी जुकाम बुखार की शिकायत होने पर परिजनों को जांच के लिए कहा जाता है। अधिकतर बच्चों की जांच नहीं करवाने से भी बीमारियों का खतरा बढ़ रहा है।

अचानक मौसम में बदलाव के कारण भी अस्पताल की ओपीडी संख्या में इजाफा हुआ है। करीब एक हजार तक अस्पताल की ओपीडी चल रही है। मरीजों को जांच करवाने के लिए कहां जाता है, लेकिन कोविड के डर के कारण अधिकतर मरीज जांच नहीं करवाते है। अगर समय पर मरीज अपनी जांच करवाकर दवाई लेता है तो मरीजों के लिए बेहतर साबित होगा।
डॉ. मुखराम देवंदा, प्रभारी राजकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, चौमूं।