जमीनी विवाद को लेकर खूनी संघर्ष:दबंगों ने एक परिवार के साथ लाठी-सरियों से की मारपीट, वाहनों में तोड़फोड़ कर लगाई आग

चौमूं3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
वाहनों में लगाई गई आग। - Dainik Bhaskar
वाहनों में लगाई गई आग।

जोबनेर थाना इलाके के जयपुर-जोबनेर चौराहे के पास शनिवार देर रात जमीनी विवाद का लेकर खूनी संघर्ष हो गया। दबंगों ने एक परिवार पर लाठी-सरियों व डंडों से मारपीट कर जानलेवा हमला कर दिया। पीड़ित परिवार के लोगों के साथ बेरहमी से मारपीट के बाद घर पर खड़े वाहनों को आग के हवाले कर दिया। इस आगजनी की घटना में दो बाइक जलकर राख हो गई। अन्य वाहनों में दबंगों ने तोड़फोड़ कर दी। मारपीट से पीड़ित परिवार के करीब आधा दर्जन लोग घायल हो गए। जहां पर 2 जनों की गंभीर हालत होने पर जयपुर के एसएमएस के लिए रेफर किया गया है। वहीं घटना से आक्रोशित ग्रामीणों ने रविवार सुबह जोबनेर चौराहे पर एकत्रित हो गए व पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करते हुए आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग करने लगे। वहीं घटना की सूचना मिलने पर जोबनेर थाना प्रभारी रामस्वरूप मय पुलिस जाब्ता मौके पर पहुंचे ग्रामीणों से समझाइश की गई। करीब 2 घंटे की समझाइश के बाद मामला शांत हुआ और आरोपियों की गिरफ्तारी की जल्द मांग पर सहमति बनी। इस मामले में तीन-चार लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।

जोबनेर थाना प्रभारी रामस्वरूप ने बताया कि ढाणी नागान जोबनेर चौराहे के पास रहने वाले महेश कुमावत (36) ने रिपोर्ट दर्ज करवाई है। रिपोर्ट में बताया गया कि जोबनेर-बाईपास चौराहे जयपुर रोड पर हमारी पुश्तैनी जमीन है। जिस पर मकान व दुकान बना रखी है। पशुओं के लिए टीन सेट, छप्पर आदि बना रखे हैं। रामचंद्र कुड़ी पुत्र छीतरमल कुड़ी निवासी बंसीपुरा हमारी पुश्तैनी जमीन पर जबरन कब्जा करना चाहता है। रात करीब 11 बजे हम सब परिवार वाले हमारे घर में सो रहे थे। तभी रामचंद्र कुड़ी व उसका भाई नंदाराम कुड़ी अपने साथ राजेंद्र कुमावत निवासी ढाणी नागान सरपंच व रामजीलाल यादव पुत्र शिवकरण यादव निवासी जगमालपुरा, हनुमान यादव पुत्र किशनाराम यादव निवासी विजय गोविंदपुरा, जगदीश प्रसाद ककरालिया निवासी तेजा का बांस व अन्य कई लोगों को अपने साथ ट्रैक्टर, जेसीबी, डंपर, स्कॉर्पियो आदि वाहन लेकर और एक राय होकर हाथों में लकड़ी, लोहे के पाइप, डंडे सरियों से घर में सो रहे लोगों पर ताबड़तोड़ हमला कर दिया।

वह हमारे मकान-दुकान और टीन सेट में रखे सामान में तोड़फोड़ करते हुए जानवरों के चारे व बाजरे के पुलों में आग लगा दी। मेरे परिवार के अन्य लोग बीच-बचाव करने लगे तो इन लोगों ने मेरे पिता डालूराम को जान से मारने की कोशिश की और पिताजी के दोनों पैर तोड़ दिए और मेरे चाचा कानाराम को भी जान से मारने की नियत से रामचंद्र कुड़ी ने स्कॉर्पियो गाड़ी से टक्कर मार दी और गाड़ी चढ़ाने का प्रयास किया। जिससे कानाराम के दोनों पैर टूट गए और हमारे सभी परिवार वालों व महिलाओं के साथ में मारपीट की व मकान व दुकान में घुसकर दो बाइक, एक स्कूटी को आग लगा दी व जीप गाड़ी व अन्य बाइकों में तोड़फोड़ कर दी। मेरे पिता डालूराम व चाचा कानाराम का अभी अस्पताल में उपचार जारी है। वहीं इस मामले में पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर अनुसंधान शुरू कर दिया है।