• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Chomu
  • Dead Body Found On Morija Culvert On Highway, Police Claim Dead Body Thrown Here After Strangling Woman To Death, Letter Found In Trouble At Some Distance

महिला की हत्या कर शव फेंका:हाइवे पर मोरीजा पुलिया पर मिली लाश, पुलिस का दावा- गला दबाकर महिला की हत्या कर यहां फेंका गया शव, कुछ दूरी पर मिला परेशानी लिखा लेटर

चौमूं2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हाइवे पर मिला महिला का शव। - Dainik Bhaskar
हाइवे पर मिला महिला का शव।

चौमूं थाना इलाके में एनएच 52 पर मंगलवार देर रात एक महिला का शव मिलने से सनसनी फैल गई। राहगीरों की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए हॉस्पिटल की मोर्चरी में रखवाया है। पुलिस प्रथदृष्टया जांच में महिला की हत्या कर शव फेंकना सामने आया है। पुलिस को मृतका के पास एक लेटर मिला है, जिसमें उसकी परेशानी के बारे में लिखा हुआ है। जिसके आधार पर पुलिस जांच कर रही है।

एसएचओ हेमराज सिंह गुर्जर ने बताया कि रात करीब 12:30 बजे एनएच 52 हाइवे पर मोरीजा पुलिया पर एक महिला की लाश पड़ी मिली। शव मिलने का पता चलने पर स्थानीय लोगों में सनसनी फैल गई। वह अपने घरों से निकल आए और मौके पर इकट्ठा हो गए। लोगों की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने मौका-मुआवना किया। जिसके बाद शव को एम्बुलेंस की मदद से हॉस्पिटल की मोर्चरी भिजवाया गया। पुलिस का कहना है कि मृतका की पहचान गुलाब देवी पत्नी भंवर सिंह मीणा निवासी मीणा कॉलोनी दौसा के रूप में हुई है। वह दिल्ली में बिजली विभाग में कार्यरत है। पुलिस प्रथमदृष्टया जांच में सामने आया है कि महिला की हत्या गला दबाकर की गई है। कहीं और जगह महिला की हत्या करने के बाद शव को यहां फेंका गया है। पुलिस ने एफएसएल टीम को जांच के लिए बुलाने के साथ परिजनों को सूचना दे दी है। जिनके आने के बाद मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवाया जाएगा।

लाश की कुछ दूरी पर मिला परेशानी लिखा लेटर

लाश के पास से टाइप हुआ दो पेज का परेशानी लिखा लेटर मिला है। जिसके आधार पर जांच की जा रही है। लेटर में लिखा है कि मैं गुलाब देवी पत्नी स्वर्गीय भंवर सिंह मीणा, मीणा कॉलोनी दौसा राजस्थान की रहने वाली हूं। मेरे पति की 1994 में मृत्यु हो गई थी। मेरे पति की मृत्यु के समय मेरे बेटे की उम्र 1 वर्ष थी। मैंने अपने बेटे को पढ़ा लिखाया और स्नातक पास करवाया। जिसके बाद मेरे लड़के को मेरे भाई ने कहा कि तुम दौसा से बीएड कर लो, मेरे लड़के ने बीएड की फीस 80 हजार रुपये जमा करा दी। उसके बाद उसके मामा ने मेरे लड़के को बोला कि आप दौसा में एक प्लॉट खरीद लो, मैं तुम्हारी शादी अपनी साली से करवा दूंगा। मैंने अपने पास से 27 लाख रुपये दे दिए थे।

उन्होंने 13 लाख रुपए का प्लॉट अपने घर के पास दिला दिया था और 14 लाख रुपये का प्लॉट मीना पहाड़ी जयपुर में दिलवाया था। मेरे भाई ने 13 लाख रुपये वाला प्लॉट तो मेरे लड़के के नाम करवा दिया, लेकिन दूसरा प्लॉट जो 14 लाख रुपये मीना पहाड़ी जयपुर में खरीदा था। वह उसने अपने नाम किया हुआ है। प्लॉट लेने के बाद मेरा लड़का 3 साल दौसा में ही रहा। इस दौरान ना तो वो मुझे मेरे बेटे से बात करने देते थे और ना ही मुझे उससे मिलने देते थे। मेरा लड़का 21 मई 2020 को उसके घर पर मृत्यु पाया। वहीं, लोग उसे एंबुलेंस में लेकर अस्पताल गए। जहां पोस्टमार्टम प्रति सलंग्न में यह पाया गया कि उसकी मौत किसी जहरीले पदार्थ को खाने से हुई है। अस्पताल से ही उसका मामा और मौसा उसकी मृत्यु शरीर को एंबुलेंस से श्मशान भूमि ले गए उसके बाद मुझे मेरे बेटे की मृत्यु की सूचना दी गई। मेरे श्मशान भूमि पर पहुंचने से पहले ही मेरे भाई ने उसका दाग संस्कार करा दिया। मुझे आखिर इस समय वह भी मेरे बेटे का मुंह तक नहीं देखने दिया था। मैं बहुत परेशान हूं, मेरा भाई गिरिराज प्रसाद मीणा व रमेश चंद मीणा और मेरी बहन का पति राधाकिशन मीणा मुझे बहुत परेशान करते हैं।

खबरें और भी हैं...