• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Chomu
  • Farmers Will Get Three phase Electricity During The Day, The Corporation Is Preparing To Supply During The Day For Irrigation, Will Get Scheme Benefits From April 2022

किसानों को दिन में मिलेगी थ्री-फेज बिजली:सिंचाई के लिए दिन में सप्लाई देने की तैयारी में जुटा निगम, अप्रैल 2022 से मिलेगा योजना लाभ

चौमूंएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जीएसएस पर काम करने में जुटे बिजली निगम के कर्मचारी। - Dainik Bhaskar
जीएसएस पर काम करने में जुटे बिजली निगम के कर्मचारी।

प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने किसानों की समस्या को देखते हुए बिजली निगम प्रबंधन को जल्द ही पावर कृषि बिजली सप्लाई को रात के बजाय दिन में चालू करने की कवायद के लिए बिजली निगम के उच्च अधिकारियों को निर्देशित किया गया था। इसको लेकर चौमूं उपखंड में बिजली निगम के अधिकारी और कर्मचारी मुख्यमंत्री के सपने को साकार करने के लिए जुटे हुए हैं।

उपखंड क्षेत्र में सर्द मौसम में रबी की फसलों में सिंचाई करने के दौरान किसानों को रात के समय काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। इसको लेकर जयपुर बिजली वितरण निगम अब किसानों को रात के बजाय दिन में कृषि बिजली देने की तैयारी में जुटा है। चौमूं अधिशासी अभियंता कार्यालय के अधीन सहायक अभियंता चौमूं प्रथम व द्वितीय, कालाडेरा, खेजरोली, गोविंदगढ़ क्षेत्र में थ्री फेज कृषि के करीब 19 हजार कनेक्शन है, जिसके लिए बिजली निगम जोरों शोरों से तैयारी करने में जुटा है। उम्मीद है कि 1 अप्रैल 2022 से किसानों को फसलों की सिंचाई के लिए बिजली सप्लाई अब रात के बजाय दिन में ही मिलेगी।

इनका कहना है
निवाणा क्षेत्र के 220 केवी जीएसएस पर 20 एमवीए का अलग से ट्रांसफार्मर रखा जाएगा। साथ ही चौमूं क्षेत्र के 33 केवी के 13 जीएसएस पर पावर कैपेसिटी बढ़ाने का काम भी जोरों शोरों से चल रहा है। चीथवाड़ी, सामोद, ढोढ़सर, मानपुरा माचेड़ी, अमरपुरा जीएसएस पर अलग से एमवीए के ट्रांसफार्मर भी रखे जा चुके हैं और डोला का बास, प्रतापपुरा, धोबलाई, गुडलिया क्षेत्र में जल्दी ही पावर ट्रांसफॉर्मर लगा दिए जाएंगे।
-पुष्पेंद्र चौधरी, सहायक अभियंता, एचटीएम, चौमूं

सरकार द्वारा किसानों के हित के लिए अच्छी योजना हैं। लगभग अप्रैल 2022 तक किसानों को इस योजना का लाभ मिलेगा और अब रात की बजाय दिन में बिजली देने के लिए जीएसएस पर ट्रांसफार्मरों की कैपेसिटी बढ़ाने का काम करवाया जा रहा है। और निवाणा 220 केवी जीएसएस पर 20 एमवीए का अलग से ट्रांसफार्मर रखने का सामान आ चुका है जल्द ही लगाया जाएगा।
-के.के. पारीक, अधिशासी अभियंता, चौमूं