मामला:अजय यादव हत्याकांड के आरोपी मुकेश ने चौमू में रिश्तेदार के घर जाकर आत्महत्या की

चौमू2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • आराम करने के बहाने कमरे में गया और पंखे से फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली

शहर के वीर हनुमान मार्ग स्थित एक मकान में गुरुवार दोपहर बाद अपने रिश्तेदार के यहां मिलने के लिए आए अजय यादव हत्याकांड के आरोपी और वैशाली नगर के हिस्ट्रीशीटर मुकेश यादव पुत्र मोहन लाल निवासी खातीपुरा झोटवाड़ा ने पंखे से फंदा लगाकर जान दे दी। जीवन लीला समाप्त कर ली। चौमू थाना प्रभारी हेमराज मय जाब्ता मौके पर पहुंचे और घटनास्थल का मौका मुआयना किया। एफएसएल टीम को बुलाकर मौके से साक्ष्य जुटाए हैं।घटना के बाद चौमू एसीपी राजेंद्र सिंह निर्वाण भी मौके पर गए और मामले की जानकारी ली। थानाधिकारी हेमराज ने बताया कि मुकेश यादव चौमू में अपने रिश्तेदार बाबूलाल यादव के यहां आया था।

उसके बाद दुकानों के पीछे बने उनके मकान के कमरे में आराम करने के लिए चला गया था। थोड़ी देर बाद जब रिश्तेदार ने मकान के कमरे में जाकर देखा तो मुकेश फंदे से लटका मिला। बाबूलाल यादव ने पुलिस को फोन कर मामले की जानकारी दी। पुलिस ने मृतक मुकेश यादव के परिजनों को दी और शव सीएचसी के मुर्दाघर में रखवाया है। जिसका शुक्रवार को पोस्टमार्टम करवाया जाएगा।

रिश्तेदार से तबीयत खराब होने की बात कही थी : बाबूलाल यादव ने बताया कि वह अपनी दुकान पर बैठा था। इस दौरान दोपहर करीब दो बजे मुकेश यादव दुकान पर आया और बैठ गया। मैंने उसको चाय पिलाई। इसके बाद मुकेश ने उसे तबीयत खराब होने की बात कही। मुकेश उनके दुकानों के पीछे बने कमरे में आराम करने के लिए चला गया। कुछ समय बाद जाकर देखा तो मुकेश पंखे से तौलिए का फंदा लगाकर झूलता हुआ मिला। बाबूलाल ने बताया कि उसे यह तो मालूम था कि मुकेश आपराधिक प्रवृत्ति का है, लेकिन यह मालूम नहीं था कि वह मर्डर केस में वांछित अपराधी भी है।

खबरें और भी हैं...