बाड़ेबंदी में पार्षदों से मिलने पहुंचे 3 विधायक:पार्षदों की संख्या पहुंची 73, होटल में बाहरी लोगों की एंट्री नहीं

चौमूंएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
चौमूं के होटल में की गई भाजपा पार्षदों की बाड़ेबंदी में रविवार को तीन विधायक पार्षदों से मिलने पहुंचे। - Dainik Bhaskar
चौमूं के होटल में की गई भाजपा पार्षदों की बाड़ेबंदी में रविवार को तीन विधायक पार्षदों से मिलने पहुंचे।

जयपुर नगर निगम ग्रेटर के मेयर पद को लेकर दोनों ही दलों में घमासान देखने को मिल रहा है। अब तक बाड़ाबंदी की बात से इंकार कर रही कांग्रेस ने अपने पार्षदों को बाड़ाबंदी में सुरक्षित कर दिया है। वहीं, भाजपा के खेमे में पार्षदों का इजाफा देखने को मिल रहा है। बाड़ाबंदी में पार्षदों की संख्या 73 तक पहुंच गई है। इससे पहले जयपुर से कूच करते समय कुल 62 पार्षद थे। मेयर पद को लेकर 10 नवंबर को मतदान होगा, जहां भाजपा की रश्मि सैनी और कांग्रेस प्रत्याशी हेमा सिंघानिया के बीच सीधा मुकाबला देखने को मिल रहा है।

विधायक कालीचरण सर्राफ, सांगानेर विधायक अशोक लाहोटी, नरपत सिंह राजवी रविवार को बाड़ाबंदी में मौजूद पार्षदों से मिलने होटल पहुंचे। बाड़ाबंदी की कमान संभाल रहे भाजपा के मुख्य प्रवक्ता रामलाल शर्मा की मौजूदगी में कालीचरण सर्राफ, सांगानेर विधायक अशोक लाहोटी और नरपत सिंह राजवी ने विधायको से चर्चा की और एकजुट रहने का पाठ पढ़ाते हुए संकल्प दिलाया। सर्राफ ने दावा किया की कांग्रेस के 9 पार्षद और निर्दलीय 4 पार्षद उनके सम्पर्क में हैं।

वहीं, लाहोटी ने दावा किया की भाजपा प्रत्याशी को 100 से ज्यादा वोट मिलेंगे। होटल में भाजपा पार्षदों की बाड़ाबंदी के चलते बाहरी लोगों का होटल में प्रवेश रोक रखा है। भाजपा को आशंका है कि कहीं कांग्रेस पार्टी में सेंधमारी ना कर ले। इसके चलते भाजपा मतदान की तारीख तक पूरी तरह सतर्कता बरत रही है।