पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

लापरवाही:बैंक और विभागीय प्रक्रिया के बीच अटक रहा पंचायतों का पैसा, सीसी सड़क, सफाई प्रभावित हो रही, अटक रहा गांवों का विकास

चौमू19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • गोविंदगढ़ पंचायत समिति की 49 में से 15 पंचायतों के जनप्रतिनिधियों को विकास के लिए कोस रही जनता

गोविंदगढ़ पंचायत समिति की पंचायतों में पारदर्शिता के साथ विकास कार्यो के लिए रुपये के भुगतान को ऑनलाइन प्रक्रिया लागू होने के बाद पंचायतों के कई विकास कार्यो का भुगतान समय पर नहीं हो रहा है। ब्लॉक में कुल 49 ग्राम पंचायतें में से अभी तक 34 ग्राम पंचायतों में ही बैंकों की ओर से अप्रूव कर डीएससी डोंगल (डीजिटल सिग्नेचर) दिए गए हैं। शेष पंचायतों में डोंगल एक्टीवेट न होने से गांवों के विकास कार्य में तकनीकि समस्या रोड़ा बनी हुई है। जबकि दूसरी ओर तकनीकि समस्या के चलते विकास कार्य को नहीं पा रहे हैं और आमजन विकास कार्यो के लिए जनप्रतिनिधियों को जनता कोस रही है।

जानकारी के अनुसार पिछले कई महिनों से डीएससी डोंगल एक्टीवेट नहीं होने से पंचायतों के विकास कार्यो पर पूरी तरह से ब्रेक लगा हुआ है।ग्राम पंचायत खेजरोली, अमरपुरा, तिगरिया, महारकलां, हाथनोदा, उदयपुरिया, निवाणा, देवथला, नांगल भरड़ा सहित कुल 15 ग्राम पंचायतें ऐसी हैं जहां डीएससी डोंगल(डीजिटल सिग्नेचर) तकनीकि समस्या के चलते विकास कार्य नहीं चल पा रहे है। जबकि इन पंचायतों में सड़कें जर्जर हो चुकी हैं। पानी की समस्या व सफाई की समस्या सहित कई विकास के कार्य प्रभावित हो रहे है।

पंचायतों के खातों में पड़ा है विकास का पैसा

एसएफसी योजना का 858.16करोड़ रूपये व एफएफसी योजना का 10.79 करोड़ लाख रूपये पंचायतों के खातों में पड़ा हुआ है। इनमें जिन पंचायतों की डीएससी डोंगल जारी हो चुके है,उनमें विकास कार्य प्रगति पर है और अन्य 15 पंचायतों में विकास कार्य ठप पड़े हुए है।इन कारणों से अटक रहा हैविकास का बजटजिन पंचायतों में ग्राम विकास अधिकारी सेवानिवृत्त हुए, पंचायतों के बैंक खातों में अशुद्धि, एक बैंक से दूसरे में खाते बदलने से यह समस्या आई है।

करोड़ों के विकास कार्य स्वीकृत गोविंदगढ़ पंचायत समिति की कुल 49 पंचायतों के बैंक खातों में राज्य के 312 कराड़ रुपए व केंद्र के 9 करोड़ 10 लाख रुपए के विकास कार्य स्वीकृत है। भुगतान को लेकर संवेदक बैंकों और ग्राम पंचायतों के बीच चक्कर काट रहे है।इन कामों का अटक रहा है भुगताननकद चेक से भुगतान नहीं होने के कारण पंचायतों में सफाई कर्मचारियों, रोड लाइटों का बिल, ग्राम विकास के कार्य बाधित है। इसके साथ ही ग्राम पंचायतों की ओर से करवाए गए सीसी रोड का भुगतान नहीं हो पा रहा है। जिसको लेकर मजदूर, कारीगर, ग्राम पंचायत के चक्कर काटने को मजबूर है।

^सरपंचों ने बताया कि पहले कोरोना के कारण पंचायतों में विकास कार्य प्रभावित हुए और अब विकास कार्य नहीं होने के कारण आमजन हमें विकास के लिए कोस रही है। लगातार उच्च प्रशासन को डीएससी डोंगल को अप्रूव कराने की मांग कर रहे है। एक-दो दिन का आश्वासन मिल रहा है। ऐसे में विकास कार्यो के साथ पानी, बिजली, साफ-सफाई व रोड़ निर्माण व मरम्मत के पैसों का भुगतान नहीं हो रहा है।^गोविंदगढ़ पंचायत समिति के विकास अधिकारी अनिल कुमार सोनी ने बताया कि पंचायतों में डीएससी डोंगल की जो समस्या आ रही है , उसका समाधान इसी हफ्ते में हो जाएगा।

खबरें और भी हैं...