प्रशासन ने रुकवाया अवैध निर्माण:सार्वजनिक जमीन पर किया जा रहा था कब्जा, कानूनी कार्रवाई की दी चेतावनी

चौमूं10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
चौमूं के सामोद कस्बे के बन्दौल में सार्वजनिक जमीन में अवैध निर्माण को लेकर एक बार फिर विवाद शुरू हो गया है। - Dainik Bhaskar
चौमूं के सामोद कस्बे के बन्दौल में सार्वजनिक जमीन में अवैध निर्माण को लेकर एक बार फिर विवाद शुरू हो गया है।

चौमूं के सामोद कस्बे के बन्दौल में सार्वजनिक जमीन में अवैध निर्माण को लेकर एक बार फिर विवाद शुरू हो गया है। स्थानीय ग्रामीणों ने भूमाफिया पर जमीन पर कब्जा करने का आरोप लगाते हुए इसकी शिकायत तहसीलदार सज्जन लाटा से की। ग्रामीणों की शिकायत पर तहसीलदार ने पटवारी को मौके पर भेजकर अवैध निर्माण कार्य रुकवाया।

तहसीलदार ने कहा कि अगर बिना प्रशासन के आदेश के निर्माण कार्य किया जाएगा तो कानूनी कार्रवाई की जाएगी। इस जमीन को बचाने के लिए सामोद के ग्रामीण पैदल मार्च भी कर चुके हैं। वहीं मामले में विधायक रामलाल शर्मा भी इस जमीन को बचाने के लिए लगातार कोशिश में जुटे हैं। रविवार को भी स्थानीय लोगों ने विधायक रामलाल शर्मा से अवैध अतक्रिमण की शिकायत की थी। जिस पर विधायक ने भी अधिकारियों से बातचीत कर भू-माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।

सामोद बंदौल स्थित जमीन पर बिना प्रशासन के आदेश के चल रहे निर्माण को रुकवाने के लिए शुक्रवार को पंचायत समिति सदस्य महेश यादव के नेतृत्व में ग्रामीणों ने तहसीलदार सज्जन कुमार को गोविन्दगढ़ में जन सुनवाई के दौरान ज्ञापन सौपा था। यादव ने बताया कि सामोद के बंदौल भूमि पर भूमाफिया द्वारा अवैध निर्माण कार्य कराया जा रहा है। इस पर स्थानीय प्रशासन ने रविवार को कार्रवाई करते हुए बिना स्वीकृति के सार्वजनिक भूमि पर अवैध निर्माण करने के मामले पर पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर रोक लगा दी।