प्लॉट दिलाने के नाम पर 26.50 लाख की धोखाधड़ी:कब्जा लेने पहुंचे तो दूसरे का निकला प्लॉट, रुपए नहीं लौटाए

चौमूंएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज कर लिया है और जांच शुरू कर दी है। - Dainik Bhaskar
पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज कर लिया है और जांच शुरू कर दी है।

चौमूं में प्लॉट दिलाने के नाम पर एक व्यक्ति ने अपने ही रिश्तेदार से धोखाधड़ी कर करीब 26 लाख रुपए ऐंठ लिए। आरोपी ने पीड़ित को झांसे में लिया और एक प्लॉट की उसके नाम लिखा पढ़ी करवाकर रुपए ले लिए। जब कुछ दिन बाद पीड़ित प्लॉट पर कब्जा लेने के लिए पहुंचा तो वहां कोई महिला मिली, जिसने प्लॉट उसका होने के बात कही। जब पीड़ित आरोपी के पास पहुंचा तो उसने दूसरी प्रॉपर्टी दिलवाने की बात कही। इसके बाद उसने रेनवाल रोड पर प्लॉट और दुकान दिलवाने का झांसा दिया, लेकिन न तो प्लॉट दिलवाया और न ही रकम दिलवाई। अब पीड़ित ने आरोपी के खिलाफ चौमूं थाने में मामला दर्ज कराया है।

एसआई बलदेव सिंह ने बताया कि मोहनलाल यादव पुत्र गोपीराम यादव निवासी दिवराला (श्रीमाधोपुर) ने धोखाधड़ी का केस दर्ज कराया है। उसने रिपोर्ट में बताया कि रिश्तेदारी में जंवाई लगने वाले राजकुमार पुत्र अर्जुनलाल यादव निवासी कलालियों की ढाणी (चौमूं) ने उसे चौमूं में प्लॉट दिलाने की बात कही थी, जिस पर उसने राजकुमार पर विश्वास कर लिया। इसके बाद रेनवाल रोड पर कृष्णा विहार कॉलोनी में एक प्लॉट दिखाया और इसको 17 जनवरी 2014 को मोहनलाल यादव व शिव प्रसाद यादव के हक में 167.88 गज प्लॉट का विक्रय पत्र करवा दिया और 26 लाख 50 हजार रुपए ले लिए। कुछ दिन बाद वह कब्जा लेने के लिए पहुंचे तो वहां पर ज्ञानवती देवी पत्नी गिरधारी लाल कुमावत मिली। उसने बताया कि यह प्लॉट तो हमने खरीद रखा है। तुम्हारा यहां पर कोई लेना देना नहीं है।

मोहनलाल ने बताया कि इसको लेकर उसने राजकुमार से बात की तो उसने बताया कि आप चिंता मत करो हम आपस में रिश्तेदार है। मैं आपको दूसरी अच्छी प्रॉपर्टी दिला दूंगा। इसके बाद रेनवाल रोड पर भी अन्य जगह दिखाई और प्लॉट व दुकान दिलाने का झांसा दिया, लेकिन राजकुमार ने अभी तक न तो कहीं पर प्लॉट या दुकान दिलवाई है और न ही रुपए वापस लौटाए। इसको लेकर अन्य रिश्तेदारों के बीच में भी कई बार बात हुई, लेकिन राजकुमार ने रुपए नहीं लौटाए। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।