पानी के लिए महिलाओं ने किया प्रदर्शन:एक माह से खराब बोरिंग मोटर सही नहीं होने से हुई परेशानी, ऑफिस में धरना

चौमूं4 महीने पहले
पानी की मांग लोकर आक्रोशित महिलाएं ऑफिस में करीब एक घंटे तक धरने पर बैठी रही। - Dainik Bhaskar
पानी की मांग लोकर आक्रोशित महिलाएं ऑफिस में करीब एक घंटे तक धरने पर बैठी रही।

चौमूं शहर में गर्मी का मौसम शुरू होने के साथ ही पानी के लिए धरने-प्रदर्शन शुरू हो गए हैं। शहर की सिंधी कॉलोनी की आक्रोशित महिलाएं मंगलवार को जलदाय विभाग ऑफिस पहुंची और विभाग अधिकारियों और कर्मचारियों के खिलाफ नारेबाजी करते हुए विरोध प्रदर्शन किया। आक्रोशित महिलाएं ऑफिस में करीब एक घंटे तक धरने पर बैठी रही।

वार्डवासियों ने जलदाय विभाग के अधिकारियों के खिलाफ लापरवाही का आरोप लगाते हुए कहा कि पिछले 2 महीनों से वार्ड में पेयजल समस्या बनी हुई है। अधिकारियों को अवगत कराने के बावजूद भी इस समस्या का अभी तक समाधान नहीं हो पाया है।

बोरिंग की मोटर खराब होने के कारण वार्ड वासियों को पेयजल किल्लत का सामना करना पड़ रहा है। वहीं, जलदाय विभाग JEN ज्योति सैनी ने जल्द बोरिंग की मोटर ठीक करवाने का आश्वासन दिया तब जाकर मामला शांत हुआ। आक्रोशित महिलाओं ने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर जल्द बोरिंग की मोटर को ठीक नहीं किया गया तो बड़ा जन आंदोलन करेंगे। उसके लिए सड़क जाम करना पड़े या फिर जलदाय विभाग की तालाबंदी करनी पड़े हम तैयार हैं। वार्ड वासी मनीषा अगवानी ने बताया कि पिछले 2 महीने से पानी के लिए परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। जलदाय विभाग के अधिकारियों को कई बार अवगत कराया, लेकिन अभी तक समस्या का समाधान नहीं हुआ है।

लाखों रुपए खर्च के बाद भी किल्लत
नगर पालिका प्रशासन द्वारा लाखों रुपए खर्च करके पेयजल के लिए पाइप लाइन डाली गई थी, लेकिन उसके बाद भी अभी तक अधिकतर जगह पर पेयजल सप्लाई नहीं हो पाई। जिससे आए दिन लोगों को पानी के लिए परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

खबरें और भी हैं...