पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा:रोडवेज आगार ने नहीं लगाई अतिरिक्त बसें, किराया देकर सेंटरों तक पहुंच रहे परीक्षार्थी

चौमू5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में जयपुर ग्रामीण में 14 परीक्षा सेंटर में अकेले रेनवाल थाना क्षेत्र में 12 परीक्षा सेंटर बनाए है। जहां 4 दिन में 60 हजार से अधिक परीक्षार्थी परीक्षा देने पहुंच रहे है। इसके बावजूद रोडवेज डिपो ने शहर के लिए अतिरिक्त बसें नहीं लगाई। नतीजा परीक्षार्थियों कोे रुपए खर्च कर निजी वाहनों में सफर करना पड़ रहा है। पुलिस कांस्टेबल के लिए रोडवेज में निशुल्क बस सुविधा मुहैया कराई गई है। शहर में उदयपुर, चितोड़गढ़, भीलवाड़ा आदि जिलो के काफी परीक्षार्थी आ रहे है, जो पहले जयपुर व उसके बाद रेनवाल पहुंच रहे है। अमूमन कोई भी व्यक्ति रोडवेज डिपो पहुंचता है, लेकिन जयपुर सिंधीकैंप बस डिपो से शहर के लिए केवल दिनभर में केवल तीन-चार बस ही होने से परीक्षार्थियों को पहुंचने में परेशानी उठानी पड़ रही है। कई परीक्षार्थी टेंपो, कार आदि में महंगा किराया देकर आने को मजबूर है। शहर में एक साथ एक दिन में 13हजार परीक्षार्थी व उनके साथ परिजनों के आ जाने से सभी होटल व धर्मशालाएं फूल हो गई। रात भर शहर की सड़कों पर परीक्षार्थी घूमते नजर आ रहे है। शहर में करीब 10 धर्मशालाएं है, लेकिन आधी धर्मशालाएं परीक्षार्थियों के नहीं खोली गई। रेलवे स्टेशन, बस स्टेंड, किसान शिव मंदिर, सार्वजनिक पार्क में परीक्षार्थियों ने मच्छरों के बीच रात गुजारनी पड़ रही है। हांलाकि कुछ लोगों ने बाहर से आने वाले परीक्षार्थियों के लिए रहने व खाना की व्यवस्था की है, लेकिन वो रीट परीक्षा के मुकाबले बहुत कम है। भर्ती परीक्षा को लेकर केवल पुलिस विभाग ही सारी व्यवस्था संभालती नजर आई, अन्य विभाग कोई दिलचस्पी नहीं दिखा रहे है। शहर में करीब तीन किलोमीटर क्षेत्र में परीक्षा के 9 सेंटर बनाए गए। सेंटर तक बस की व्यवस्था नहीं होने से परीक्षार्थी तेज धूप में सेंटर के लिए भाग दौड़ करते नजर आए। छाया की व्यवस्था नहीं होने से अभिभावकों को दीवार की ओट या दूर कहीं पेड़ के नीचे भरी गर्मी में बैठना मजबूरी बना हुआ है। प्रशासन ने कहीं इनके बैठने आराम करने की व्यवस्था नहीं की है।

खबरें और भी हैं...