बिजली कटौती के विरोध में ग्रामीणों का प्रदर्शन:डिस्कॉम अफसरों के खिलाफ की नारेबाजी, कहा-8 घंटे थ्री फेस बिजली मिले

चौमूं21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
किसानों ने बिजली कटौती को लेकर प्रदर्शन किया। किसानों ने नारेबाजी करते हुए ज्ञापन सौंपा।  - Dainik Bhaskar
किसानों ने बिजली कटौती को लेकर प्रदर्शन किया। किसानों ने नारेबाजी करते हुए ज्ञापन सौंपा। 

चौमूं में एनएच-52 स्थित टाटियावास टोल प्लाजा के पास रामपुरा ऑफिस पर किसानों ने बिजली कटौती को लेकर प्रदर्शन किया। किसानों ने बिजली कटौती के विरोध में नारेबाजी करते हुए जेईएन हरलाल सिंह को ज्ञापन सौंपा।

किसानों और ग्रामीणों ने बताया कि कोयले की कमी बताकर राजस्थान के ग्रामीण क्षेत्रों में 20 घंटे बिजली कटौती की जा रही है। जबकि जयपुर शहर जैसे क्षेत्र में मात्र 1 घंटे की कटौती होती है। ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले लोगों के साथ सरकार भेदभाव कर रही है। वहीं समय पर बिजली की आपूर्ति नहीं होने के कारण पशुओं के चारे के भाव आसमान छू रहे हैं। खेत में फसल बिना पानी के जलकर नष्ट हो रही है।

ज्ञापन में कहा गया कि पशुओं का हरा चारा भी भीषण गर्मी में पेयजल सप्लाई नहीं होने से नष्ट हो गया। जिससे अब किसानों के सामने संकट है। ग्रामीणों और किसानों ने ज्ञापन में कहा कि उनको 8 घंटे थ्री फेस बिजली सप्लाई दी जाए, सस्ती दरों पर चारा उपलब्ध करवाया जाए। इस मौके पर भगवान सहाय बधाला,भाजपा नेता सीताराम सेरावत, राधाकिशन चोटिया, सुरेश निठारवाल, लालचंद निठारवाल, ग्यारसीलाल घोसल्या, पूर्व सरपंच देवाराम जाट,शंकर गोरा,भींवाराम गोरा,कैलाश सामोता सहित अन्य ग्रामीण मौजूद रहे।