पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

कोविड के साइड इफेक्ट:स्कूली खेलों के रद्द होने का खतरा, खिलाड़ियों को ओवरएज होने का डर

चौमू11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिला स्तरीय खेल प्रतियोगिताओं पर पड़ सकता है असर, स्कूली खिलाड़ियों का भविष्य दांव पर, छात्र निराश
  • हर वर्ष राज्यस्तर पर पच्चीस हजार खिलाड़ी लेते हैं खेलों में भाग

केंद्र सरकार द्वारा जारी स्कूलों के लिए एडवाइजरी के बाद कोरोना संक्रमण के चलते सत्र 2020-21 की विद्यालय स्तरीय खेल प्रतियोगिताओं के आयोजन पर संकट के बादल गहरा गए हैं। कोरोना के बढ़ते मरीजों को देखते हुए केंद्र सरकार ने 31 अगस्त तक विद्यार्थियों के लिए स्कूल बंद रखने के आदेश दिए हैं। ऐसे में प्रतियोगिताओं के आयोजन के इस सीजन में खेलों का आयोजन मुश्किल ही संभव हो पाने का अनुमान लगाया जा रहा है । खेल प्रतियोगिताओं के लिए स्वयं के स्तर पर अभ्यास कर रहे खिलाड़ियों को भी इससे बड़ा झटका लगा है। कई खिलाड़ियों के आयु सीमा पार होने की स्थिति में भी उनके मन में भविष्य को लेकर चिंताएं सताने लगी हैं।

एडवाइजरी के चलते स्कूलों में मैदान सूने
विद्यालयों में जुलाई माह में सत्र के शुरुआत से ही खेल अभ्यास भी शुरू हो जाते हैं,लेकिन एडवाइजरी के चलते विद्यार्थियों के विद्यालय में आने पर पाबंदी के कारण स्कूलों में मैदान सूने पड़े हैं। वॉलीबॉल के खेल विशेषज्ञ शारीरिक शिक्षक जगदीश मुवाल, हनुमान सहाय माली ने बताया कि अगस्त माह में अंतर-सदनीय प्रतियोगिताओं के आयोजन के द्वारा खिलाड़ियों का चयन शुरू हो जाता है। माध्यमिक शिक्षा निदेशालय के कैलेंडर के अनुसार 18 खेलों के लिए सितंबर माह के प्रथम सप्ताह में जिला स्तरीय तथा अंतिम सप्ताह में राज्य स्तरीय खेल प्रतियोगिता शुरू हो जाते हैं,लेकिन कोरोना संक्रमण के फैलने के चलते टूर्नामेंट आयोजन किया जाना संभव दिखाई नहीं पड़ रहा है।

जिले के कई खिलाड़ी हो जाएंगे ओवरएज
प्रतियोगिता में भाग लेने वाले प्रतियोगियों के लिए जन्मतिथि के आधार पर 19, 17 तथा 14 वर्ष आयु वर्ग में आयु सीमा मानदंड निदेशालय द्वारा निर्धारित होती है। पिछले कैलेंडर की माने तो इस वर्ष प्रतियोगिताओं में भाग लेने वाले खिलाड़ियों की 19 वर्ष आयु वर्ग के आयु सीमा 1 जनवरी 2002 तथा 17 वर्ष आयु वर्ग खिलाड़ियों के लिए 1 जनवरी 2004 तिथि से आयु निर्धारण होगा। खिलाड़ियों के लिए परेशानी का सबब यह है कि सीनियर वर्ग के खिलाड़ी यदि आयु सीमा पार करते हैं तो अगले सत्र में आयोजित होने वाली प्रतियोगिताओं में हिस्सा नहीं ले पाएंगे। दूसरी तरफ जो विद्यार्थी कक्षा 12 में हैं, वे सत्र 2020-21 में 12वीं उत्तीर्ण करने पर भी प्रतियोगिताओं में भाग लेने से वंचित हो जाएंगे।

आयोजन के लिए निर्देशों का इंतजार

उप जिला शिक्षा अधिकारी शारीरिक शिक्षा जयपुर डॉ. मोहन चौधरी का कहना है कि माध्यमिक शिक्षा निदेशालय तथा स्कूल गेम्स फेडरेशन ऑफ इंडिया ने अभी तक खेलों के आयोजन के संबंध में आदेश जारी नहीं किए हैं। जारी निर्देशों का इंतजार है, जैसे ही आदेश प्राप्त होंगे उनकी पालना सुनिश्चित की जाएगी।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- धार्मिक संस्थाओं में सेवा संबंधी कार्यों में आपका महत्वपूर्ण योगदान रहेगा। कहीं से मन मुताबिक पेमेंट आने से राहत महसूस होगी। सामाजिक दायरा बढ़ेगा और कई प्रकार की गतिविधियों में आज व्यस्तता बनी...

और पढ़ें