पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अनदेखी:30 घरों की आबादी के लिए 11 हैंडपंप, 3 नलकूप, आठ निजी नलकूप, ऐसे कैसे होगा भूजल संरक्षण

दौसा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • नियमों को ताक पर रखकर विभागीय अधिकारियों ने 5-5 मीटर दूर बाेर करवाने की दी अनुमति

एक ओर जहां लोग बूंद-बूंद पीने के पानी के लिए तरस रहे हैं। वहीं दूसरी ओर एक गांव ऐसा है जहां जन प्रतिनिधियों की मेहरबानी देखने को मिल रही है। जहां लोग एक-एक हैंडपंप की स्वीकृति के लिए जनप्रतिनिधियों के सामने दर्जनों चक्कर काटते हैं। वही जन प्रतिनिधियों की मेहरबानी हो जाए तो गांव के वारे न्यारे हो सकते हैं। इसका नजारा ग्राम पंचायत हिंगोटिया के रामजीपुरा की नदी वाली बैरवा ढाणी में देखने को मिल रहा है।मजे की बात यह है कि इस गांव में 30 घर हैं यहां की आबादी मात्र 170 है इस क्षेत्र में प्रशासन सहित जनप्रतिनिधियों की मेहरबानी के चलते 13 हैंडपंप एक एकल पाइंट,1 सोलर जनित आरओ पॉइंट लगे हुए हैं वहीं 7 निजी पाइंट लगे हुए हैं। ऐसे में सरकार की ओर से लाखों रुपए की लागत लगाकर लगाए गए पेयजल स्रोत उपयोग न होने के कारण बेकार साबित होते नजर आ रहे हैं।सड़क पर करा रहे बोरवेल अधिकारियों से सांठगांठ कर लोग कार्रवाई से बचने के लिए घर के बाहर रोड पर बोरवेल के लिए बोरिंग कराते हैं। इसके चलते आवागमन बाधित होता है कीचड़ के चलते आसपास के लोगों को परेशानी होती है।भूगर्भ जल के लिए खतरनाक विधायक सांसद जलदाय विभाग पंचायत समिति जिला परिषद कोटे से हैंडपंप एकल पाइंट स्वीकृत होने के बाद जलदाय विभाग के इंजीनियरों से सर्वे कराया जाता है उसके बाद ही नियमों व मापदंड पूरे करने के बाद ही बोर कटवाए जाने की अनुमति दी जाती है। पहले से जिस जगह पर कोई समरसेबल पंप लगा है, तो उस स्थान से 300 मीटर के दायरे में कोई दूसरा समरसेबल नहीं लगाया जा सकता है यह भूगर्भ जल के लिए काफी खतरनाक होता है। बोरवेल अधिक होने से भूगर्भीय जल सूखने की आशंका बढ़ जाती है।5 से 10 मीटर के दायरे में ही लगा रखे हैं हैंडपंप। जलदाय विभाग के अधिकारियों की माने तो 100 की आबादी 100 मीटर के फासले पर ही एक हैंडपंप लगाया जा सकता है। वही सरकारी व सार्वजनिक भूमि पर ही हैंडपंप लगाया जा सकता है। निजी खातेदारी भूमि पर एकल पाइंट व हैंडपंप नहीं लगाए जा सकते हैं। जबकि यहां डेढ़ सौ मीटर के अंदर एक नलकूप एक आरओ प्लांट व 13 हैंडपंप लगा रखे है। इससे भूजल का अत्यधिक दोहन हो रहा है। इससे जल स्तर गिरता जा रहा है इसके लिए नियमों का भी ख्याल नहीं रखा गया है। दो बोरबेल के बीच की दूरी को भी दरकिनार किया गया है इतना ही नहीं आधे से ज्यादा हैंडपंप निजी खातेदारी भूमि पर ही अधिकारियों से सांठगांठ कर लगवाए गए हैं। इससे विभागीय अधिकारियों की कार्यशैली पर सवालिया निशान खड़े होते दिखाई दे रहे हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज व्यक्तिगत तथा पारिवारिक गतिविधियों के प्रति ज्यादा ध्यान केंद्रित रहेगा। इस समय ग्रह स्थितियां आपके लिए बेहतरीन परिस्थितियां बना रही हैं। आपको अपनी प्रतिभा व योग्यता को साबित करने का अवसर ...

और पढ़ें