अच्छी खबर:सीडीईओ कार्यालय में बिना मास्क पहुंचे दो अफसरों का 20 0-200 रु. का चालान, इस राशि से खरीदेंगे मास्क

दौसा16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • गाइड लाइन के प्रति लोगों में जागरूकता का दिया संदेश, पालना नहीं की तो सख्ती बढ़ेगी

कार्यालयों में नो मास्क नो एंट्री की काेराेना गाइड लाइन जारी होने के बावजूद अधिकांश कार्यालयों में अब भी इस आदेश की पालना नहीं हो रही है, लेकिन गुरुवार को मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय में दो अधिकारियों को 200-200 रुपए का जुर्माना भुगतना पड़ा। दरअसल, ओमिक्रोन वैरीएंट को रोकने के लिए एजुकेशन डिपार्टमेंट भी अब एक्शन में आ गया है। गुरुवार को विभाग के दो अधिकारियों का बिना मास्क के दफ्तर में आने पर 200-200 रुपए का चालान काटकर इसकी शुरुआत कर दी है।
जिला मुख्यालय के लालसोट रोड स्थित मुख्य जिला शिक्षाधिकारी कार्यालय में नो मास्क नो एंट्री के निर्देश के बावजूद कर्मचारियों के निर्देश की पालना नहीं की गई। ऐसे में सीडीईओ ओमप्रकाश शर्मा ने कार्यालय में बिना मास्क उपस्थित होने वाले प्रोग्राम आॅफिसर (पीओ) राजेंद्र सोनी और अजीत बेनीवाल को लताड़ लगाई। उन्होंने दोनों अधिकारियों से 200-200 रुपए जुर्माने के रूप में वसूल कर कार्यालय के अधिकारी कर्मचारियों को गाइड लाइन की पालना करने का सख्त संदेश देकर लोगों में कोविड-19 के प्रति जागरूकता का संदेश भी दिया।
सीडीईओ कार्यालय बिना मास्क पहने पहुंचे थे
सीडीईओ कार्यालय में बिना मास्क आने वाले अधिकारी कर्मचारी व अन्य लोग लोगों से 200 रुपए जुर्माना लगाया जाएगा। जुर्माने में ली गई राशि से मास्क खरीदे जाएंगे। ओमिक्राॅन वायरस के बढ़ते प्रकोप के प्रति जागरूकता के लिए मुख्य जिला शिक्षाधिकारी ने अपने कार्यालय से पहल करते हुए समूचे शिक्षा विभाग को एक सकारात्मक संदेश दिया है।
अधिकांश कार्यालयों में नहीं हो रही पालना
राज्य सरकार व चिकित्सा विभाग के सरकारी व गैर सरकारी कार्यालयों में नो मास्क नो एंट्री के अधिकारियों को निर्देश देकर पालना की सख्त हिदायत दे रखी है। सोशल डिस्टेंसिंग व मास्क लगाकर ही कार्यालयों में प्रवेश देने के निर्देश दे रखे हैं, लेकिन ना तो अधिकारी इसकी पालना कर रहे हैं और न ही कार्यालयों मेें आने वाले लोग। यह लापरवाही रही तो कोरोना दोबारा से फिर तेज रफ्तार पकड़ सकता है।

खबरें और भी हैं...