तस्करी के लिए ले जा रहे गोवंश को मुक्त कराया:बेरहमी से ठूंस-ठूंस कर भरे हुए थे 23 गाय-बछड़े, ट्रक के साथ कार चलती देख संदेह होने पर बसवा पुलिस ने की कार्रवाई, ड्राइवर वाहन छोड़ कर भागे

दौसाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ट्रक में तस्करी के लिए ले जाए जा रहे गोवंश को इस तरह बेरहमी से भरा हुआ था। - Dainik Bhaskar
ट्रक में तस्करी के लिए ले जाए जा रहे गोवंश को इस तरह बेरहमी से भरा हुआ था।

सर्दी की आहट के साथ ही जिले में गो तस्करी शुरू हो गई है। बेखौफ तस्कर ग्रामीण क्षेत्रों में आवारा घूमने वाले गोवंश को बंधक बनाकर रात के समय तस्करी के लिए ले जाते देखे जा रहे हैं। यहां के कोलवा थाना क्षेत्र से बार-बार गो तस्करी की मिल रही शिकायतों के बाद बीती रात बसवा थाना पुलिस ने गोवंश से भरा एक ट्रक बरामद कर दो लोगों को हिरासत में लिया है। ट्रक में 23 गाय व बछड़े बेरहमी से ठूंस-ठूंस कर भरे हुए थे, जिन्हें पिंजरापोल गौशाला में मुक्त करा घायल गोवंश का इलाज कराया गया है।

बसवा थाना पुलिस ने बताया कि बीती देर रात गश्त के दौरान सड़क से गुजर रहे एक ट्रक व उसके पीछे चल रही कार को देखकर संदेह हुआ तो पुलिस ने रुकने का इशारा किया। चालक ट्रक लेकर भागने का प्रयास करने लगा तो पुलिस ने नाकाबंदी कर दी। जहां पुलिस से बचने के लिए तस्कर ट्रक छोड़कर फरार हो गए तो पुलिस ने कार सवार दो लोगों को दबोच लिया। ट्रक की तलाशी लेने पर उसमें गोवंश भरा हुआ था। पुलिस ने कार्रवाई करते हुए 23 गोवंश को मुक्त कराया है।

मेवात की ओर कर रहे थे तस्करी

पुलिस ने तस्करी के आरोप ललितराम मीना व विनोद बंजारा को गिरफ्तार कर 50 लीटर हथकड शराब भी बरामद की है। पुलिस ने बताया कि तस्कर गोवंश को ट्रक में भरकर अरनिया गांव से मेवात की ओर ले जा रहे थे। इसकी सूचना पर काटरवाड़ा के पास नाकाबंदी की, जिसे तोड़कर फरार हुए तो पुलिस ने धपावन गांव के पास कार सवार दो तस्करों को दबोच लिया, तीन तस्कर अंधेरे का फायदा उठाकर मौके से फरार हो गए।

कोलवा क्षेत्र से मिल रही थी शिकायतें

जिले में ग्रामीण अंचल में बड़ी तादाद में आवारा गोवंश सड़कों पर इधर-उधर घूमता हुआ दिखाई देता है। ऐसे में तस्करों द्वारा इन्हें पकड़ कर पहले सुनसान जगह पर एकत्रित किया जाता है। इसके बाद रात्रि के समय पुलिस व स्थानीय लोगों को चकमा देकर मिनी ट्रक जैसे वाहनों में भरकर तस्करी के लिए मेवात क्षेत्र की ओर ले जाया जाता है। कोलवा थाना क्षेत्र में भी पिछले दिनों ऐसा ही वाक्या देखने को मिला था, जिसकी स्थानीय लोगों ने पुलिस को शिकायत की थी लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। ऐसे में लंबे समय बाद जिले में फिर से शुरू हुई गो तस्करी पर समय रहते सख्त कार्रवाई नहीं की गई तो पुलिस के लिए चुनौती खड़ी हो सकती है।

खबरें और भी हैं...