पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

निकाय चुनाव:जिले में तीसरे दिन तीनों नगर निकायों में 79 दावेदारों ने दाखिल किए 99 नामांकन

दौसा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • दौसा से 27, लालसोट से 31 व बांदीकुई से 41 ने जताई उम्मीदवारी

जिले में नगर निकाय चुनाव के लिए बुधवार को तीसरे दिन नगर परिषद दाैसा, नगर पालिका बांदीकुई व लालसोट में 79 दावेदारों ने 99 नामांकन दाखिल किये है। जिला निर्वाचन अधिकारी पीयूष समारिया ने बताया कि नगर परिषद दौसा में 55 वार्डो के लिए होने वाले चुनाव के लिए नामांकन दाखिल करने के तीसरेे दिन 22 दावेदारों ने 27 नामांकन प्रस्तुुत किए हैं।

नगर पालिका बांदीकुई के 40 वार्डो में होने वाले चुनाव के लिए 32 दावेदारों ने 41 नामांकन प्रस्तुुत किए हैं। इसी प्रकार नगर पालिका लालसोट के 35 वार्डो में होने वाले चुनाव के लिये 25 दावेदारों ने 31 नामांकन प्रस्तुत किए हैं। उन्हाेंने बताया कि जिले के तीनों नगर निकायों में नामांकन दाखिल करने के तीसरे दिन 79 दावेदारों ने 99 नामांकन प्रस्तुत किए हैं।

बांदीकुई में 66 साल पहले हुआ था नगर पालिका का गठन
नगर पालिका बांदीकुई के नए बोर्ड के लिए 11 दिसंबर को मतदान होगा। जिसमें 40 पार्षद चुनकर आएंगे, लेकिन 66 साल पहले बांदीकुई नगरपालिका के प्रथम बोर्ड में 8 पार्षद चुनकर आए थे।
बांदीकुई नगर पालिका का गठन वर्ष 1954 में हुआ था। इससे पहले यह क्षेत्र जागीर बांदीकुई व भांडेडा के अधीन था। वर्ष 1954 में नगरपालिका गठन के बाद पहले बोर्ड के हुए चुनाव में करीब 700 मतदाताओं ने अपने मत का प्रयोग किया था। जिसमें 8 पार्षद चुनकर आए थे। धीरे-धीरे आबादी बढ़ती गई और वार्ड की संख्या भी बढ़ती गई। अब वर्तमान में बांदीकुई नगर पालिका में 40 वार्डों में पार्षद पद के लिए चुनाव होगा। जिसमें 29 हजार 456 मतदाता अपने मत का उपयोग करेंगे।

66 साल पहले अलग-अलग वार्डों का सिस्टम नहीं था
84 वर्षीय रामगोपाल आमेरिया बताते हैं कि नगरपालिका के पहले बोर्ड में 8 पार्षद चुनकर आए थे। उस समय अलग-अलग वार्डो का सिस्टम नहीं था। पूरे शहर में लोगों ने 8 वोट दिए थे और सभी प्रत्याशियों में से 8 पार्षदों का चुनाव किया गया था।

3 वर्ष का होता था कार्यकाल
70 वर्षीय पूर्व पालिकाध्यक्ष पूरणमल शर्मा बताते हैं कि पहले नगर पालिका का कार्यकाल 3 वर्ष का होता था। जिसमें चेयरमैन 3 वर्ष के लिए चुना जाता था। इसके बाद नए बोर्ड के चुनाव होते थे। करीब वर्ष 1982 के बाद कार्यकाल 5 वर्ष का होने लगा।

बांदीकुई नगर पालिका कांग्रेस का गढ़ रही
66 साल की इतिहास में बांदीकुई नगर पालिका में कांग्रेस का वर्चस्व रहा। इस लंबे समय के अंतराल में 23 चेयरमैन बने इनमें 56 साल तक सर्वाधिक कांग्रेस का और 10 साल भाजपा का चेयरमैन रहा। पालिका का गठन होने के बाद नगर पालिका बांदीकुई के पहले चेयरमैन निरजन लाल सिंघल बने। इनका कार्यकाल सबसे लंबा रहा। ये तीन बार बांदीकुई नगर पालिका में चेयरमैन रहे और उनका कार्यकाल 10 साल तक रहा। पार्टी के आधार पर चेयरमैन के कार्यकाल का आकलन किया जाए तो 66 साल के इतिहास में कांग्रेस का 56 साल तक वर्चस्व और भाजपा का 10 साल तक। भाजपा के चेयरमैन के रूप में प्रभु दयाल डंगायच दो बार एवं सत्यनारयण शाहरा एक बार चेयरमैन रहे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- दिन उत्तम व्यतीत होगा। खुद को समर्थ और ऊर्जावान महसूस करेंगे। अपने पारिवारिक दायित्वों का बखूबी निर्वहन करने में सक्षम रहेंगे। आप कुछ ऐसे कार्य भी करेंगे जिससे आपकी रचनात्मकता सामने आएगी। घर ...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser