सुविधा / किसी भी बैंक का खाताधारक अब पोस्टमैन के जरिए घर बैठे निकाल सकेगा 10 हजार रुपए

X

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

दौसा. जनधन योजना राशि, सामाजिक सुरक्षा पेंशन एवं डीबीटी जैसी योजनाओं में शामिल लोगों के लिए अच्छी खबर है। अब उन्हें 10 हजार रुपए तक की राशि अपने बैंक खाते से निकालने के लिए न तो बैंक की कतार में लगने की जरूरत है और न ही बैंक आने-जाने की। घर बैठे उन्हें ये राशि मिल जाए इसके लिए डाक विभाग ने डोर-टू-डोर भुगतान की सुविधा शुरू की है। इसका सबसे ज्यादा फायदा ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को मिलेगा जो सरकारी योजना के रुपए निकालने के लिए बैंक के चक्कर लगा रहे हैं। डाक विभाग ने इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक के माध्यम से एईपीएस यानि आधार इनेबल्ड पेमेंट सिस्टम की सुविधा शुरू की है।
इसके अंतर्गत डाक विभाग डोर टू डोर 10 हजार रुपए तक का भुगतान करेगा। इसके लिए कोई भी बैंक का खाता होल्डर जिसका खाता आधार कार्ड से लिंक है वह अपने खाते से पोस्टमैन के माध्यम से 10 हजार रुपए तक की राशि घर बैठे निकाल सकेगा। इस योजना में जनधन योजना राशि, सामाजिक सुरक्षा पेंशन, डीबीटी आदि राशि भी निकलवा सकते हैं। 
81 पोस्टमैन के पास मोबाइल डिवाइस की सुविधा
डाक विभाग की उप मंडल निरीक्षक मनीषा मीना ने बताया लोगों को घर बैठे अपने बैंक से रुपए निकालने की सुविधा के लिए डाक विभाग ने बांदीकुई ग्रामीण क्षेत्र के 81 पोस्टमैन को मोबाइल डिवाइस सुविधा प्रदान कर रखी है। ऐसे में किसी भी बैंक का खाता होल्डर अपने क्षेत्र के पोस्टमैन से संपर्क कर उसके मोबाइल डिवाइस से घर बैठे आपरेट कर अपने खाते से 10 हजार रुपए तक निकाल सकते हैं। इसके लिए खाता होल्डर के पास ओटीपी आएगा। भुगतान के लिए हमने पर्याप्त मात्रा में पोस्टमैन को राशि उपलब्ध करा रखी है। बाइ चांस उसके पास रुपए नहीं है तो हमारा पोस्टमैन पास के ब्रांच आफिस से लाकर खाता होल्डर को उसके खाते से विड्रा की गई राशि घर बैठे उपलब्ध कराएगा। इसके पीछे डाक विभाग की मंशा है कि लॉकडाउन के दौरान बैंक में भीड़ नहीं हो और लोग इसके लिए बैंक नहीं आए। इससे लॉकडाउन की पालना तो होगी साथ ही सोशल डिस्टेंस भी बना रहेगा। उन्होंने कहा कि इसके लिए विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्र के बैंक उपभोक्ता अपने-अपने पोस्टमैन यानि डाकिए से संपर्क कर डाक विभाग की इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना