नवरात्रि विशेष:पहाड़ पर विराजीं हैं आसावरी माता, मंदिर में चलता है वेद विद्यालय

दौसा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पहाड़ पर आसावरी माता का मंदिर प्रमुख शक्ति स्थल है। जहां कई प्रदेशों के लाेग मन्नत मांगने आते हैं। लाेगाें की मनकामना भी पूरी हाेती है। हजाराें साल पुराना यह मंदिर कराैली के पत्थरों से निर्मित था। जिसके जीर्ण-शीर्ण हाने पर भक्ताें ने वापस वर्ष 2004 में निर्माण कराया और जन सहयाेग से माता का भव्य मंदिर बनाया गया।

वहीं गणेशजी, शिवालय, हनुमानजी, रामदरबार, राधा-कृष्ण, शीतला माता के मंदिर हैं। ओमकारेश्वर से शिवजी की मूर्ति लाकर स्थापना करवाई है। महंत सत्यनारायण शर्मा ने बताया कि मंदिर में राजस्थान, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, उत्तरप्रदेश, दिल्ली, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा से भी भक्तजन आते हैं। मंदिर में वेद विद्यालय में चलता था, लेकिन काेराेना के कारण बंद है। मंदिर में नवरात्र में विशेष अनुष्ठान हाेता है।कंटेन : भास्कर जैमनफोटो : ड्रोन सहयोग दीपक शर्मा (बिट्टू)।

खबरें और भी हैं...