जिम्मेदारी सौंपी:जिले में निजी अस्पतालों में रेमडेसिविर पर नियंत्रण के लिए सौंपी जिम्मेदारी

दौसा6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिले में कोविड-19 के संक्रमण की दूसरी लहर के प्रकोप की रोकथाम के लिए रेमडेसिविर दवा निजी अस्पतालों को उपलब्ध कराने में किसी तरह की अव्यवस्था नहीं हो इसके लिए कमेटी का गठन किया गया है।कलेक्टर पीयूष समारिया ने बताया कि शासन सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के निर्देशों की पालना के संबंध में दिशा निर्देश जारी किए गए थे। जिला मुख्यालय पर रेमडेसिविर के वितरण में अव्यवस्थाओं की सूचना मिलने व व्यवस्था बनाए रखने के लिए दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। रेमडेसिविर औषधि के लिए चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी पूर्व में निर्धारित दरों पर ही निजी चिकित्सालयों को उपलब्ध हो। मरीजों से अधिक राशि वसूल नहीं की जाए इसकी भी देखरेख की जाएगी।

जिले में निजी अस्पतालों में रेमडेसिविर औषधि का वितरण करने के लिए गठित समिति द्वारा सुचारू व्यवस्था बनाए रखने के लिए दिशा-निर्देशों के अनुसार कार्रवाई करेंगे। गठित कमेठी की अनुशंसा व औषधि की उपलब्धता और उपयोगिता के आधार पर रेमडेसिविर का वितरण निजी अस्पतालों के अधिकृत प्रतिनिधि को करेगें। औषधि किसी भी स्थिति में निजी व्यक्ति को नहीं दी जाएगी। कमेटी की अनुशंसा के आधार पर निजी चिकित्सालयों को जारी की जाने वाली रेमडेसिविर का अप्रूवल होने पर पर जिला स्तर पर वितरण के लिए समय व स्थान निर्धारित किया जाएगा। इसके लिए संबंधित चिकित्सालयों को सूचित किया जाएगा। रेमडेसिविर औषधि के वितरण के दौरान किसी प्रकार की भीड़ नहीं हों व कानून व्यवस्था बनाए रखने की व्यवस्था की जाएगी।

जिला स्तर पर नियंत्रण कक्ष स्थापितकोविड-19 की सूचनाओं के आदान प्रदान व लोगों की शिकायतों का तत्काल निराकरण के लिए जिला स्तर पर कलेक्ट्रेट में नियंत्रण कक्ष स्थापित किया गया है, जिसके फोन नं. 01427-224903 है। नियंत्रण कक्ष 24 घंटे कार्यरत है। इसके अलावा सीएमएचओ कार्यालय में भी नियंत्रण कक्ष स्थापित किया गया है, जिसके नं. 7891510014 हैं। जिले के शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में किसी भी व्यक्ति को कोरोना संबंधित कोई समस्या हो तो नियंत्रण कक्षों के फोन नम्बरों पर सम्पर्क कर सकते हैं।

खबरें और भी हैं...