बछड़ी का शिकार:बघेरे ने किया बकरी व बछड़ी का शिकार, तीन माह से आतंक

दौसा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

ग्राम पंचायत खान भाकरी मुख्यालय पर कई माह से छाए बघेरे का आतंक से दूरस्थ क्षेत्र के 5 से अधिक गांवों के ग्रामीण खौफजदा हैं। 3 माह के अंतराल में बघेरे ने एक दर्जन से अधिक जानवरों का शिकार कर चुका है। शाम ढलते ही गांव सहित पहाड़ी क्षेत्र में बघेरे के आतंक के चलते लोगों का घर से बाहर भी निकलना मुश्किल हो रहा है। वन विभाग व प्रशासन को सूचना देने के बाद भी कोई सुनवाई नहीं हो रही है।जानकारी के अनुसार पहाड़ की तलहटी पर बसे गांवों में सोमवार शाम को ग्रामीणों ने अपने घर के बाड़े में बकरी और गाय की बछडी को रस्सी से बांधकर रखा था। इसी दौरान रात में कब बघेरा पहुंचा और रस्सी तोड़कर बकरी और बछडी का शिकार कर खा गया, पता ही नहीं चला।

दिनेश शर्मा, रामदयाल शर्मा, राजू महाराज, राहुल बैरवा, कमल बैरवा, ओपी मीणा, अंकित जांगिड़, कानू रावत ने रोष जताते हुए बताया कि शाम होते ही गांव में बघेरा आ धमकता है और पालतू मवेशियों को शिकार बना रहा है। वन विभाग व प्रशासन कोई सुनवाई नहीं कर रहा है।पिंजरा लगाकर भूला फाॅरेस्टउपसरपंच दिनेश शर्मा, रामदयाल शर्मा, राजू ने बताया कि बघेरे को पकड़ने के लिए पिंजरा रख कर चले गए लेकिन आज तक सुध नहीं ली। रेंजर बबलू राम मीणा का कहना है कि बघेरे को पकड़ने के प्रयास कर रहे है।

खबरें और भी हैं...