पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Dausa
  • Brahmin Organizations Protested At The Collectorate, Who Came In Support Of The Priest For The Demand Of Removal Of Illegal Occupation From The Land Of The Temple Forgiveness, The Priest, Upset With The Bullies, Had Attempted Suicide.

दबंगों से परेशान पुजारी ने किया था आत्महत्या का प्रयास:मंदिर माफी की जमीन से अवैध कब्जा हटाने की मांग को लेकर पुजारी के समर्थन में आए ब्राह्मण संगठनों का कलेक्ट्रेट पर विरोध-प्रदर्शन

दौसा12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
दौसा कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन करते ब्राह्मण समाज के लोग। - Dainik Bhaskar
दौसा कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन करते ब्राह्मण समाज के लोग।

जिले के सिकंदरा थाना क्षेत्र के मोरोली गांव में मंदिर माफी की जमीन पर अवैध कब्जे से परेशान मंदिर के पुजारी की मदद के लिए गुरुवार को कई ब्राह्मण संगठन साथ आए व एडीएम को ज्ञापन सौंपकर भूमाफियाओं से मंदिर माफी जमीन खाली कराने की मांग की। समाज के लोगों ने एडीएम को पुजारी की पीड़ा बताते हुए शीघ्र कार्रवाई की मांग की तथा कलेक्ट्रेट के मुख्य गेट पर नारेबाजी करते हुए विरोध प्रदर्शन किया।

पीड़ित पुजारी राजेंद्र शर्मा का कहना है कि उसके पास आजीविका का कोई साधन नहीं है, मंदिर माफी की जमीन एक मात्र कमाई का साधन है। जिस पर उसका पूरा परिवार आश्रित है। ऐसे में उस पर भी भू माफियाओं ने कब्जा कर लिया। जिसके चलते उसके परिवार की पर रोजी-रोटी का संकट खड़ा हो गया है। काफी प्रयास करने के बावजूद भूमाफियाओं ने मंदिर माफी की जमीन से अतिक्रमण नहीं हटाया।

गौरतलब है कि मोरोली गांव में ठाकुरजी महाराज की जमीन पर बाहुबलियों के कब्जा करने की शिकायत के बाद भी पुलिस व प्रशासन के कोई कार्रवाई नहीं किए जाने से नाराज पुजारी ने मंगलवार को मंदिर के गुंबद पर चढ़कर आत्महत्या करने का प्रयास किया।

पुजारी के 20 फीट ऊंचे मंदिर के गुंबद पर चढ़ने की जानकारी लगते ही चौकी प्रभारी सूरज यादव मय जाब्ता मोरोली गांव पहुंचे तथा गुंबद पर बैठे पुजारी को ग्रामीणों की सहायता से समझाइश कर तथा कार्रवाई का आश्वासन देकर करीब 1 घंटे की मशक्कत के बाद नीचे उतारा था।

खूब गर्माया था महवा का पुजारी प्रकरण
जिले के महवा क्षेत्र में कुछ दिनों पहले भी मंदिर माफी की करोड़ों की जमीन पर भूमाफियाओं द्वारा कब्जा कर धोखाधड़ी से रजिस्ट्री करवाने पर शम्भू पुजारी की मौत हो गई थी। इसके बाद राज्यसभा सांसद डॉ. किरोडीलाल मीणा पुजारी के शव को लेकर धरने पर बैठे व मंदिर माफी की जमीन से अतिक्रमण हटाने की मांग की। बाद में भाजपा नेताओं ने दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर जयपुर सिविल लाइंस फाटक के पास शव रखकर प्रदर्शन किया था। पूरे प्रकरण के बाद सरकार ने मंदिर माफी की जमीनों को लेकर जांच के आदेश दिए थे।

बाहुबलियों से परेशान पुजारी मंदिर के गुंबद पर चढ़ा:कार्रवाई नहीं होने से नाराज पुजारी खुदकुशी करने मंदिर के गुंबद पर चढ़ा, पुलिस ने उतारा

खबरें और भी हैं...