गुमशुदा बालक को घर पहुचाया:बाल कल्याण समिति ने गुमशुदा बालक के परिजनों का दो दिन में लगाया पता

दौसा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिला बाल कल्याण समिति के 2 दिन के अथक प्रयास के बाद 6 वर्षीय गुमशुदा बालक राहुल के परजिनों का पता लगने पर दौसा समिति में पहुंचे परिजन बालक को सामने देख आंखों से आंसू छलग गए।समिति के 2 दिन के अथक प्रयास के बाद बालक के माता-पिता हाउसिंग बोर्ड जोधपुर रहने की सूचना मिलने पर समिति ने संपर्क किया। मंगलवार को माता-पिता सहित करीब 12 रिश्तेदार जिला बाल कल्याण समिति दौसा पहुंचे। बालक देख परिजनों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। सभी की आंखों से आंसू निकल रहे थे। बालक अपने माता-पिता व परिजनों को देखकर बाहों में लिपट गया।

बालक को सकुशल देखकर परिजनों ने बाल कल्याण समिति का आभार जताया। जिला बाल कल्याण समिति सदस्य मुकेश ठीकरिया ने बालक को मिठाई खिलाकर शिक्षण सामग्री दी गई।अजमेर जम्मूतवी पूजा एक्सप्रेस गाड़ी संख्या 02421 में एस्कोट पार्टी के पास बालक की सूचना पर आरपीएफ रेलवे स्टेशन गुमशुदा बालक को उतारकर कांस्टेबल द्वारा 1098 पर कॉल कर चाइल्ड लाइन को सूचना दी। जिला बाल कल्याण समिति के न्यायपीठ के सदस्य मुकेश ठीकरिया ने बताया 26 सितम्बर को चाइल्ड लाइन ने गुमशुदा बालक राहुल को न्याय पीठ के समक्ष पेश किया गया। जहां बालक से पूछने पर पिता का नाम कालूराम, मां का नाम ईशा व जगह का नाम बालोतरा व पिता रिक्शा चलाना बताया था। इससे ज्यादा जानकारी बालक नहीं दे पा रहा था। समिति के सदस्य ठीकरिया द्वारा बालक से बात कर परिजनों का पता लगाने की कोशिश की।

खबरें और भी हैं...