पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बांदीकुई में एसीबी की इस साल तीसरी कार्रवाई:कम्प्यूटर ऑपरेटर 1600 रु. की घूस लेते पकड़ा, राशन कार्ड बनाने के 100-100 रुपए लेता था

दौसा16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बांदीकुई पालिका में कार्रवाई करती एसीबी टीम व बैठा आरोपी। - Dainik Bhaskar
बांदीकुई पालिका में कार्रवाई करती एसीबी टीम व बैठा आरोपी।
  • हर काम के रुपए लेता था, संविदा पर कार्यरत था

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो एसीबी दौसा की टीम ने बुधवार को नगर पालिका में कंप्यूटर ऑपरेटर के पद पर तैनात एक संविदाकर्मी को विवाह, जन्म प्रमाण पत्र बनाने की एवज में 1600 रुपए की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया। प्रारंभिक जांच में सामने आया कि आरोपी संविदाकर्मी नगर पालिका में राशन कार्ड बनवाने एवं संशोधन कराने आने वाले लोगों से प्रति राशन कार्ड 100 रुपए रिश्वत लेता था। एसीबी की गिरफ्त में आने के बाद आरोपी ने कहा कि यह रिश्वत की राशि उन्होंने परिवादी से उधार के रूप में ली है। उसके व परिवादी के बीच पहले से उधार के रूप में लेनदेन चलता आ रहा है।

गौरतलब है कि इस वर्ष की एसीबी की बांदीकुई शहर में यह तीसरी कार्रवाई है।एसीबी दौसा के डिप्टी एसपी राजेश सिंह ने बताया कि 12 जुलाई 2021 को परिवादी यशपाल सिंह कर्दम निवासी वार्ड 8 बांदीकुई एसीबी टोल नंबर 1064 पर शिकायत की। उसके बाद परिवादी ने दौसा कार्यालय में उपस्थित होकर एक शिकायत पत्र दिया। बताया कि वह ई मित्र का संचालन करता है। राशन कार्ड, विवाह, जन्म प्रमाण पत्र बनाने के लिए नगर पालिका में ऑनलाइन आवेदन कर रखा है, लेकिन नगर पालिका में कंप्यूटर ऑपरेटर सुमित शर्मा राशन कार्ड, विवाह पंजीयन बनाने के बदले में 2000 रुपए रिश्वत मांग रहा है। डिप्टी एसपी ने बताया कि 13 जुलाई को गोपनीय रूप से शिकायत का सत्यापन करवाया गया। शिकायत सही मिलने पर बुधवार को आरोपी कंप्यूटर ऑपरेटर को अपराह्न करीब 3 बजे रिश्वत की राशि लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। उन्होंने बताया कि आरोपी की जेब से 1600 रुपए रिश्वत के मिले है।

आरोपी को ट्रेप करने के लिए पैदल पहुंची एसीबी टीम

एसीबी के डिप्टी एसपी ने बताया कि कार्यवाही के दौरान मौजूद कस्बे के लोगों ने बताया कि कंप्यूटर ऑपरेटर सुमित शर्मा नए राशन कार्ड बनाने एवं संशोधन करने की एवज में प्रति राशन कार्ड 100 रुपए रिश्वत लेता था। उधर, आरोपी कंप्यूटर ऑपरेटर को ट्रेप करने के लिए एसीबी की टीम पैदल ही नगर पालिका पहुंची। टीम ने चारों ओर से पालिका कार्यालय को घेर लिया और इसके बाद कार्यवाही को अंजाम दिया।रिश्वत लेकर कर्मचारियों के बीच में बैठ गया था आरोपीकंप्यूटर ऑपरेटर सुमित शर्मा रिश्वत की राशि लेकर पालिका के अन्य कर्मचारी के बीच चुपचाप जाकर बैठ गया जहां पर एसीबी की टीम ने आरोपी को पकड़ लिया और पेंट से रिश्वत की राशि बरामद कर ली।शहर में एसीबी की कार्रवाई के बाद सरकारी कार्यालयों में मचा हड़कंपनगर पालिका में एसीबी की कार्रवाई के बाद शहर के अन्य सरकारी कार्यालयों में हड़कंप मच गया। पालिका में अधिकांश कर्मचारी इधर-उधर भाग गए। इसके अलावा अन्य सरकारी कार्यालय सूने नजर आए।

खबरें और भी हैं...