निधन पर शोक:मानवाधिकार आयोग के सदस्य जस्टिस महेश के निधन पर शोक

दौसा6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जयपुर में दौसावाला के नाम से प्रसिद्ध थे

राज्य मानवाधिकार आयोग के सदस्य जस्टिस महेश चंद्र शर्मा का गुरुवार को ह्रदय गति रुकने से जयपुर में देहांत हो गया। शर्मा के निधन से दौसावासी स्तब्ध रह गए। उनके निधन पर न्यायिक जगत से जुड़े लोगों सहित गणमान्य नागरिकों ने शोक व्यक्त किया। सोशल मीडिया पर बड़ी संख्या में लोगों ने शोक जताया।महेश शर्मा अपने नाम के आगे दौसावाला शब्द लगाते थे। भमोरिया मौहल्ले में नाथू लाल शर्मा मास्टर के यहां जन्मे महेश की प्राथमिक शिक्षा भोमियाजी मंदिर के नीचे व्यास माेहल्ला स्कूल में हुई।

कक्षा 5 तक पढ़ाई करने के बाद जयपुर के दरबार स्कूल में हायर सेकंडरी तक शिक्षा प्राप्त की।उन्होंने बीएससी दौसा के राजकीय महाविद्यालय से की। 1975 में बीएससी करने के बाद 1978 में विधि में स्नातक जयपुर से किया। शर्मा का दौसा से विशेष लगाव रहा। वे हाईकोर्ट के न्यायाधीश रहे। मानवाधिकार आयोग के अध्यक्ष के रूप में भी कार्य किया। वर्तमान में मानवाधिकार आयोग के वे सदस्य थे। महेश शर्मा के हाई कोर्ट न्यायाधीश के दौरान दिए अनेक फैसले चर्चित रहे।

खबरें और भी हैं...