पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पीएम आवास में अव्वल दौसा:रंग लाए प्रशासन के समन्वित प्रयास, जरूरतमंदों के लिए 9696 आवास बनाकर प्रदेश में पहले पायदान पर आया दौसा

दौसा3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतिकात्मक पीएम आवास  - Dainik Bhaskar
प्रतिकात्मक पीएम आवास 

ग्रामीण क्षेत्रों के जरुरतमंद लोगों को आवास उपलब्ध करवाने में दौसा जिला प्रधानमंत्री आवास योजना की रैंकिंग में प्रदेश में पहले स्थान पर रहा है। पीएम आवास योजना को लेकर जारी रैंकिंग सूची में दौसा जिले में 2011 की लिस्ट के अनुसार स्वीकृत आवासों में से 9696 आवास निर्माण का लक्ष्य प्राप्त कर लिया गया है। योजना के तहत रैंकिंग में जिले को ओवर ऑल 96.30 अंक प्राप्त हुए हैं। अधिकारी इसे प्रभावी मॉनिटरिंग और सतत प्रयासों के कारण संभव होना बता रहे हैं कि विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों ने टीम वर्क के रूप में कार्य कर इस योजना के तहत प्रभावी कार्य किया।

वर्ष 2011 में हुआ था सर्वे
सीइओ ने बताया कि प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के तहत दौसा जिले को वर्ष 2016-17 से 2020-21 तक 10069 आवासों के लक्ष्य प्राप्त हुए थे। ऐसे में 2011 की सूची में चयनित पात्र सभी 10069 परिवारों को आवास योजना से लाभान्वित किया जा चुका है। योजना के तहत जिले में 9696 आवासों का निर्माण कार्य पूर्ण करवाकर 96.30 प्रतिशत उपलब्धि अर्जित की गई है। हाल ही में राज्य सरकार द्वारा पीएम आवास योजना की राज्य स्तरीय प्रगति की समीक्षा के बाद आवास निर्माण कार्य पूर्ण कराने में राज्य स्तरीय रैकिंग में दौसा जिला प्रथम स्थान पर रहा है।

प्रभावी मॉनिटरिंग से आए परिणाम
सीइओ ने बताया कि कलेक्टर पीयूष समारिया द्वारा प्रभावी मॉनिटरिंग और फील्ड में स्टाफ की कड़ी मेहनत के कारण पहले स्थान पर आना संभव हुआ है। अधिकतम घरों को समय पर पूरा करवाया गया है। शेष आवास जल्द पूरे हो इसके लिए ब्लॉक अनुसार प्रतिदिन का टारगेट निर्धारित किया गया है ताकि जल्द से जल्द बकाया आवास पूरे हो सके।

1.40 लाख की लागत
प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत एक आवास पर 1.40 लाख रुपए की लागत आती है। इसमें एक कमरा, एक रसोई, एक शौचालय का निर्माण होता है। जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी लक्ष्मीकांत बालोत के अनुसार 25 वर्ग मीटर में आवास का निर्माण होता है। इस योजना में 1.20 लाख रुपए योजना से और 90 दिन का मस्टरोल मनरेगा से मिलता है, जो लगभग 20 हजार रुपए होता है। लाभार्थी को तीन किश्तों में भुगतान किया जाता है।

खबरें और भी हैं...