नई गाइड लाइन:किसी एरिया या अपार्टमेंट में समूह के बीच संक्रमित मिलने पर कर्फ्यू लगेगा, 5 से अधिक लोग एकत्र तो कार्रवाई होगी

दौसा8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बढ़ते संक्रमण की रोकथाम के लिए कलेक्टर ने जारी की नई गाइड लाइन

जिले में कोरोना संक्रमण की रफ्तार को रोकने के लिए सरकार ने 30 अप्रैल तक जारी दिशा-निर्देश काे सख्ती से लागू करने के प्रशासन ने तैयारी कर ली है। जिला मजिस्ट्रेट पीयूष समारिया ने जिले के सभी एसडीएम को अपने क्षेत्रों में किसी एरिया या अपार्टमेंट जहां संक्रमित व्यक्तियों का समूह चिन्हित किया है वहां पर माइक्रो कंटेंटमेंट जोन घोषित करने के प्रस्ताव तैयार कर तत्काल भेजने की निर्देश दिए हैं। संक्रमित व्यक्ति को होम आइसोलेशन से संबंधित गाइड लाइन की प्रति सीएमएचओ द्वारा उपलब्ध कराई जाएगी।किसी एरिया या अपार्टमेंट में समूह के बीच संक्रमित मिलने पर कर्फ्यू लगाया जाएगा।

कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सीएमएचओ को कोरोना पॉजिटीव मामलों की दैनिक सूची एसपी कार्यालय को भेजने के निर्देश जारी किए गए हैं। प्रभावित क्षेत्र (माइक्रो कंटेटमेंट) धारा 144 के तहत शून्य मोबिलिटी के प्रतिबंधात्मक आदेश जारी करने की कार्रवाई की जाएगी। माइक्रो कंटेटमेंट जोन में अधिक कोविड संक्रमित केस पाए जाते हैं तो उन्हें सील किया जाएगा। स्थानीय निकाय विभाग, ग्राम पंचायत माइक्रो कंटेटमेंट जोन की सीमाओं पर बैरियर लगाएंगे। सार्वजनिक स्थानों पर 5 या इससे अधिक व्यक्तियों के इकट्ठा होने की अनुमति नहीं होगी। उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। एसडीएम होम आइसोलेशन के तहत आने वाले सभी लोगों को नोटिस जारी करेंगे, जिससे की उल्लंघन करने पर आपदा प्रबंधन अधिनियम व कानूनी कार्रवाई की जाएगी। संक्रमित व्यक्ति द्वारा होम आइसोलेशन से संबंधित गाइड लाइन के उल्लंघन करने पर उन्हें तुरंत संस्थागत क्वारेंटाइन किया जाएगा। बीट कांस्टेबल इनकी जांच करेगा व किसी प्रकार के उल्लंघन की सूचना इंसीडेंट कमाण्डर को देगा।

संक्रमित के संपर्क में आए 30 लोगों को 72 घंटे में ट्रेस करना होगा जिला प्रशासन ने कोविड संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आए कम से कम 30 व्यक्तियों को 72 घंटे के अंदर ट्रेस करने के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिए हैं।चैक पोस्ट को बनाया जाएगा सुदृढ़जिले में राज्य से बाहर से आने वाले व्यक्तियों की आरटी-पीसीआर जांच रिपोर्ट के लिए स्थापित चैक पोस्ट को और अधिक सुदृढ़ किया जाएगा। संयुक्त प्रर्वतन दलों के सहयोग के लिए बने विशेष दल में इंसीडेंट कमांडर के द्वारा की सेवाओं का उपयोग किया जाए। जिले में नियुक्त संयुक्त प्रर्वतन दल द्वारा क्षेत्र भ्रमण कर आयोजित होने वाले जनसमूह कार्यक्रमों की वीडियोग्राफी मंगाई जाकर जांच की जाएगी।

खबरें और भी हैं...