अघोषित बिजली कटौती के विरोध में प्रदर्शन:6 गांवों के लोगों ने GSS पर सरकार के खिलाफ की नारेबाजी, ट्रांसफार्मर का लोड बढ़ाने की मांग

दौसा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
महुवा में विरोध प्रदर्शन के बाद पूर्व प्रधान राजेंद्र मीणा के नेतृत्व में ज्ञापन देते किसान। - Dainik Bhaskar
महुवा में विरोध प्रदर्शन के बाद पूर्व प्रधान राजेंद्र मीणा के नेतृत्व में ज्ञापन देते किसान।

महुवा उपखंड के गाजीपुर क्षेत्र के गांवों में अघोषित बिजली कटौती से नाराज लोगों ने विरोध प्रदर्शन किया। किसानों को समय पर बिजली सप्लाई नहीं होने के कारण आधा दर्जन गांवों के लोग मंगलवार को पूर्व प्रधान राजेंद्र मीणा के नेतृत्व में मीना खेड़िया जीएसएस पहुंचे। जहां नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन कर सरकार व अधिकारियों के खिलाफ रोष प्रकट किया।

किसानों का कहना था कि सिंचाई के लिए थ्री फेस बिजली की सप्लाई 3-4 घंटे ही की जाती है। इस दौरान बार-बार ट्रिपिंग होने से मोटर आदि में खराबी आ जाती है। लोगों का कहना था कि बिजली पावर हाउस पर जो ट्रांसफॉर्मर रखा हुआ है, उसे पर्याप्त आपूर्ति संभव नहीं है। ऐसे में बिजली ट्रांसफार्मर का लोड बढ़ाया जाना चाहिए।

SE के नाम ज्ञापन सौंपा
पूर्व प्रधान राजेंद्र मीणा ने खोहरा मुल्ला जीएसएस के एईएन (सहायक अभियंता) व थानाधिकारी सलेमपुर को मौके पर बुलाया। ग्रामीणों की समस्या के बारे में बताया। बाद में जेवीवीएनएल (जयपुर विद्युत वितरण निगम के दौसा एसई (अधीक्षण अभियंता) से फोन पर बात कर उनके नाम विभिन्न समस्याओं को लेकर एई एन को ज्ञापन दिया और 24 घंटे में समस्याओं का समाधान कराने की मांग की।

इस मौके पर महुवा पंचायत समिति प्रधान के प्रतिनिधि बंटी गुर्जर, खोहरा मुल्ला सरपंच प्रतिनिधि भंवरसिंह जाटव, बाडा बुजुर्ग सरपंच नंदकिशोर मीना, गाजीपुर सरपंच सागर सिंह मीणा सहित दर्जनों किसान मौजूद रहे।

रिपोर्ट: विजय सिंह नांगलोत, मंडावर

खबरें और भी हैं...