• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Dausa
  • Family Members Were Busy Preparing For The Wedding To Be Held In December, Died In The Hospital Due To Illness, The Jawan Was Stationed At Pathankot Airbase

एयरफोर्स जवान को नम आंखों से दी अंतिम विदाई:दिसम्बर में होने वाली शादी की तैयारियों में जुटा था परिवार, बीमारी की चपेट में आने से अस्पताल में दम तोड़ा, पठानकोट एयरबेस पर था तैनात जवान

दौसा15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
दौसा के ढोलका गांव में जवान को कंधा देते विधायक जीआर खटाणा। - Dainik Bhaskar
दौसा के ढोलका गांव में जवान को कंधा देते विधायक जीआर खटाणा।

जिले के ढ़ोलका गांव निवासी एयरफोर्स जवान जितेन्द्र शर्मा को गुरुवार सुबह नम आंखों से अंतिम विदाई दी गई। पंजाब के पठानकोट एयरबेस पर तैनात जितेन्द्र पिछले दिनों डेंगू की चपेट में आ गया था, तबीयत बिगड़ने पर उसे सेना के अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां इलाज के दौरान बुधवार को उसने दम तोड़ दिया था। इसकी सूचना मिलते ही गांव में शोक छा गया। गुरुवार सुबह जवान की पार्थिव देह उसके गांव ढोलका पहुंचने पर लोगों की आंखें नम हो गईं। 26 वर्षीय जितेन्द्र करीब दो साल पूर्व ही एयरफोर्स में भर्ती हुआ था।

जवान जितेन्द्र शर्मा।
जवान जितेन्द्र शर्मा।

गुरुवार सुबह जवान की पार्थिव देह घर पहुंचने पर परिवार के लोगों में चीख-पुकार मच गई। बेटे को खोने के गम में उसकी मां अचेत हो गई तो छोटा भाई का भी रो-रोकर बुरा हाल था। गांव के लोगों ने ढ़ाढस बंधाया। घर से अंतिम संस्कार के लिए ले जाने के दौरान युवाओं ने जीतू भाई अमर रहे व भारत माता के जयकारे लगाने से माहौल गमगीन हो गया। बांदीकुई विधायक जीआर खटाणा ने भी जवान की अर्थी को कंधा दिया जहां एयरफोर्स के जवानों ने तीन राउंड फायर किए व सैन्य सम्मान के साथ जितेन्द्र को अंतिम विदाई दी गई। कोलवा थाना पुलिस ने भी पुष्प चक्र अर्पित कर नमन किया।

हवाई फायर करते जवान।
हवाई फायर करते जवान।

सबसे आत्मीय सम्बंध थे

ग्रामीणों ने बताया कि जवान जितेन्द्र बहुत ही सरल, सौम्य व मिलनसार युवक था। गांव के लोगों से आत्मीय सम्बंध रखता था। पिछले दिनों छुट्टी पर आने के दौरान गांव के दोस्तों के साथ खेलता देखा गया था। कई साल पहले पिता के आकस्मिक निधन के बाद वह कड़ी मेहनत व लगन के साथ पढ़ाई कर एयरफोर्स में भर्ती हुआ। दिसम्बर में उसकी शादी तय हुई थी, जिसकी तैयारी में परिवार के लोग जुटे हुए थे, लेकिन शादी की खुशियां घर में आतीं इससे पहले ही मौत हो जाने से पूरा परिवार सदमे में है। जवान को उसके छोटे भाई ने मुखाग्नि देकर नम आंखों से अंतिम विदाई दी। इस दौरान बड़ी तादात में कई गांवों के लोग मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...