मगरमच्छ देखते ही ग्रामीणों के उड़े होश:तालाब के पास से गुजर रहे लोगों को दिखे मगरमच्छ से भय का माहौल, रेस्क्यू करने पहुंचे फॉरेस्ट कर्मियों की खानापूर्ति से रोष, अब जयपुर से आएगी टीम

दौसा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दौसा के पास जसोता गांव में तालाब बीच मिट्टी के ढेर पर बैठा मगरमच्छ। - Dainik Bhaskar
दौसा के पास जसोता गांव में तालाब बीच मिट्टी के ढेर पर बैठा मगरमच्छ।

जिला मुख्यालय के समीपवर्ती जसोता गांव में बने एक तालाब में सोमवार को मगरमच्छ दिखने से हड़कंप मच गया। मगरमच्छ काफी देर तक पानी से निकलकर मिट्टी के ऊंचे टीले पर बैठा रहा। स्थानीय लोगों ने इसकी सूचना वन विभाग को दी, लेकिन कोई भी वनकर्मी मौके पर नहीं पहुंचा। उच्च अधिकारियों को इसकी शिकायत करने पर उन्होंने भी हाथ खड़े कर दिए। ऐसे में तालाब के आसपास मगरमच्छ के खुलेआम घूमने से लोगों में भय का माहौल बना हुआ है।

ग्रामीणों ने बताया कि सोमवार सुबह तालाब के पास से गुजर रहे लोगों को मिट्टी के टीले पर बैठा एक विशालकाय मगरमच्छ दिखा। पहले तो लोगों को इस पर विश्वास नहीं हुआ लेकिन बाद में उसकी चहल कदमी से मगरमच्छ की पुष्टि हुई। स्थानीय लोगों की सूचना के बावजूद वन कर्मियों के मौके पर नहीं पहुंचने पर जिला परिषद सदस्य नीलम गुर्जर ने भी अधिकारियों को फोन कर मगरमच्छ का रेस्क्यू करने की मांग की।

इसके बाद स्थानीय फारेस्ट कर्मियों ने मौके पर पहुंच तालाब में जाल डालकर मगरमच्छ का रेस्क्यू करने की खानापूर्ति की लेकिन कोई सफलता नहीं मिली। फॉरेस्टकर्मियों का कहना था कि उन्हें कभी मगरमच्छ पकड़ने की ट्रेनिंग नहीं मिली। ऐसे में जयपुर से टीम बुलवानी पड़ेगी। वहीं दूसरी ओर गांव के तालाब में मगरमच्छ आने से लोगों में भय देखने को मिल रहा है। बता दें कि 3 दिन पहले चोबड़ीवाला गांव में बाजरे के खेत में करीब 20 फिट लम्बा अजगर मिला था।

खबरें और भी हैं...