पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सफाई व्यवस्था चरमराई:बाजारों और गली-मोहल्लों में लगे कचरे के अंबार, शहरवासी आज करेंगे नप का घेराव

दौसा7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
दौसा। गोपाल विहार कॉलोनी में नालियों की सफाई नहीं होने से रास्ते में जमा कीचड़ व गंदगी के कारण अवरुद्ध हुआ आवागमन। - Dainik Bhaskar
दौसा। गोपाल विहार कॉलोनी में नालियों की सफाई नहीं होने से रास्ते में जमा कीचड़ व गंदगी के कारण अवरुद्ध हुआ आवागमन।
  • ठेकेदारों के काम बंद करने व अस्थायी सफाई कर्मियाें काे नहीं मिल रहा वेतन

नगर परिषद के ठेकेदारों द्वारा काम बंद करने व अस्थायी सफाई कर्मचारियाें काे वेतन नहीं मिलने के कारण शहर में सफाई नहीं हाे रही है। अधिकांश काॅलाेनियाें में करीब सवा माह से ज्यादा समय से सफाई नहीं हुई। इसके चलते जगह-जगह कचरे के ढ़ेर लगे हुए हैं। बारिश हाेने से गंदगी के हालात और बिगड़ गए। गंदगी के कारण शहर सड़ रहा है। इससे बीमारियाें का अंदेशा बना हुआ है। अधिकांश वार्डाें में घर-घर से कचरा संग्रहण नहीं हाे रहा है। इससे परेशान दौसावासी बुधवार को नगर परिषद का घेराव करेंगे।

सफाई नहीं हाेने से शहर में बाजार व गली, माेहल्लाें में कचरे के अंबार लगे हैं। सड़क व नालियां कचरे से अटी पड़ी हैं। सैंथल माेड़ निवासी संजय मामाेडिया का कहना है कि कई दिन से सफाई नहीं हाे रही है। इससे जगह-जगह कचरे के ढेर लगे हुए हैं। सार्वजनिक शाैचालय की भी सफाई नहीं हाे रही है। सफाई नहीं हाेने से नाले भी जाम हैं। जगदीश प्रसाद गुप्ता आलूदा ने बताया कि गोपाल विहार काॅलोनी में पांच महीने से सफाई नहीं हुई। गंदगी व कीचड़ से रास्ते बंद हैं। घर घर में लोग बीमार पड़े हैं। राजस्थान सफाई कर्मचारी संघ दाैसा के नगर अध्यक्ष गुलाबचंद चावरिया का कहना है कि ठेकेदाराें ने करीब एक माह से काम बंद कर रखा है। अस्थायी सफाई कर्मचारी काम करना चाहते हैं, लेकिन सफाई कर्मचारियाें काे करीब दाे माह से वेतन नहीं मिल रहा है। दाे ठेकेदाराें ने सफाईसर्मियों को वेतन नहीं दिया है।

घेराव की भनक लगी तो आनन फानन में किए टेंडर सवा महीने से सड़ रहे शहर की जानबूझकर अनदेखी कर रही नगर परिषद के अधिकारियों को घेराव की भनक लगते ही मंगलवार को सफाई के टेंडर कर दिए। नगर परिषद के स्वास्थ्य निरीक्षक मुकेश सैनी का कहना है कि ठेकेदाराें द्वारा काम नहीं करने व अस्थायी सफाई कर्मचारियाें काे वेतन नहीं मिलने से सफाई कर्मचारी काम नहीं कर रहे हैं। अब सफाई व्यवस्था के लिए नए टैंडर कर हाथाेंहाथ कार्यादेश जारी किए जा रहे हैं। नगर परिषद सभापति ममता चाैधरी का कहना है कि शहर में सफाई व्यवस्था के लिए नए टेंडर कर हाथाेंहाथ वर्क आर्डर जारी किए जा रहे हैं। शहर में घर-घर कचरा संग्रहण के लिए 13 ऑटाे टिपर लगाए गए हैं। शहरवासियों को स्वच्छ शहर और सुंदर शहर का अहसास कराने की भरसक कोशिश कर रहे है।

खबरें और भी हैं...