बहुचर्चित जीवराज हत्याकांड मामला:मुख्य आरोपी कमलेश पाडावाला गिरफ्तार, पुलिस से बचने के लिए लोकेशन बदलकर दूसरे राज्यों में छिप रहा था

दौसा5 महीने पहले

जिले के बहुचर्चित जीवराज मीणा हत्याकांड के मुख्य आरोपी समेत दो आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। दोनों करीब 2 साल से फरार चल रहे थे। जिन पर एसपी द्वारा इनाम भी घोषित किया हुआ था। गिरफ्तार एक आरोपी बस्सी थाना क्षेत्र में अपहरण के एक मामले में फरार चल रहा था। जिन्हें पुलिस की साइबर सेल व स्पेशल टीम ने गिरफ्तार कर लिया। मुख्य आरोपी की गिरफ्तारी की जानकारी मंगलवार को एसपी अनिल बेनीवाल ने प्रेस वार्ता कर दी।

एसपी ने बताया कि पुलिस की गिरफ्तारी से बचने के लिए दोनों आरोपी अलग-अलग राज्यों में जगह बदल कर रहे थे। जिनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस की साइबर सेल व स्पेशल टीम पिछले 18 महिने से प्रयास कर रहे थे। पुलिस ने मोबाइल लोकेशन के आधार पर आरोपी कमलेश मीणा पाडावाला निवासी बागपुरा व रामनिवास मीणा ढाणी बैजवाड़ी थाना नांगल राजावतान को गिरफ्तार किया है।

27 जुलाई 2020 को एक गैंग के दर्जनभर से ज्यादा बदमाशों ने युवक जीवराज मीणा का अपहरण कर लिया था। जहां उसे लवाण थाना क्षेत्र में बनियाना पुलिया के पास ले गए। जहां बदमाशों ने सरिए व डंडों से उसके साथ बेरहमी से मारपीट करते हुए अधमरा कर दिया। जिसकी इलाज के दौरान अस्पताल में मौत हो गई थी। मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में गठित टीम 16 आरोपियों को पूर्व में गिरफ्तार कर चुकी है। वहीं फरार चल रहे मुख्य आरोपी की तलाश के लिए पिछले 18 महीने से प्रयास किए जा रहे थे।

मुख्य आरोपी के खिलाफ कई थानों में मामले
एसपी अनिल बेनीवाल ने बताया कि हत्या के मुख्य आरोपी कमलेश पाडावाला के खिलाफ कोतवाली, सदर, बस्सी व नांगल राजावतान थाने में कई धाराओं में मामले में दर्ज हैं। वहीं दूसरे आरोपी रामनिवास के खिलाफ भी नांगल राजावतान व कोतवाली थाने में दो मामले दर्ज हैं। पूर्व में गिरफ्तार किए जा चुके आरोपी भी कई आपराधिक मामलों में वांछित चल रहे थे। बता दें कि मृतक जीवराज मीणा व कमलेश पाडावाला में आपसी रंजिश चल रही थी। जिसमें कमलेश पाडावाला ने अपनी गैंग के साथ जीवराज की हत्या कर दी थी।