• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Dausa
  • Medical Minister Instructed Careless Doctors To Do APO, Pulled Up The Officers And Said – 5 Doctors Should Always Be On Duty

अस्पताल में रात को डॉक्टर नहीं:चिकित्सा मंत्री ने लापरवाह डॉक्टरों को APO करने के निर्देश दिए, बोले- 5 डॉक्टर हमेशा ड्यूटी पर रहें

दौसा6 महीने पहले
दौसा। हॉस्पिटल में अव्यवस्थाओं से नाराज चिकित्सा मंत्री परसादीलाल मीणा ने चिकित्सा विभाग की मीटिंग लेकर अधिकारियों की खिंचाई की तथा सुधार करने की हिदायत दी।

दौसा के सबसे बड़े रामकरण जोशी हॉस्पिटल में अव्यवस्थाओं को लेकर चिकित्सा मंत्री परसादीलाल मीणा नाराज हैं। उन्होंने लालसोट में चिकित्सा विभाग की मीटिंग लेकर अधिकारियों की खिंचाई की तथा सुधार करने की हिदायत दी है। इसके साथ ही ड्यूटी में लापरवाही बरतने वाले डॉक्टरों को एपीओ कर जयपुर भेजने के निर्देश दिए। दौसा जिला अस्पताल में नाईट ड्यूटी पर डॉक्टर नहीं मिलने के सवाल पर मंत्री ने कहा मीडिया के जरिए मामला जानकारी में आया था। इसके बाद अधिकारियों की बैठक बुलाकर जिले की चिकित्सा व्यवस्थाओं की समीक्षा की।

उन्होंने कहा अस्पतालों में बदइंतजामी की खबरें सामने आना ठीक बात नहीं है। जिला अस्पताल में 70 डॉक्टरों का स्टाफ है। ऐसे में रात को डॉक्टर नहीं मिलना शर्मनाक बात है। निर्देश दिए हैं कि 5 डॉक्टर हमेशा ड्यूटी पर तैनात रहेंगे। इसके बावजूद कोई डॉक्टर अस्पताल में नहीं मिलता है तो उसे एपीओ करके जयपुर भेज दिया जाए।

इसी महिने में भरे जाएंगे खाली पद
चिकित्सा मंत्री ने कहा कोविड महामारी का दौर फिर से शुरू हो गया है। ऐसे में जिले की प्रत्येक पीएचसी-सीएचसी पर डॉक्टर मौजूद रहे। हेडक्वाटर पर नहीं मिलने वाले डॉक्टरों को भी एपीओ करने के निर्देश दिए हैं। महामारी में हमारे डॉक्टर व मेडिकल स्टाफ साथ नहीं देगा तो फिर इससे क्या लाभ है। ऐसे में सख्ती के निर्देश दिए हैं, शिकायत मिलने पर त्वरित कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा जिले के अस्पतालों में खाली सभी पदों को जनवरी माह में ही भर लिया जाएगा। जिले की चिकित्सा व्यवस्था चाक-चौबंद रहे इसके हरसंभव प्रयास किए जाएंगे।

पंजाब में भाजपा का खाता भी नहीं खुलेगा
वहीं चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री परसादी लाल मीणा ने कहा है कि पांच राज्यों में होने जा रहे चुनाव में कांग्रेस मजबूत होकर निकलेगी। इसके साथ ही पंजाब व उत्तराखंड में भी कांग्रेस दोबारा सरकार बनाने जा रही है। पंजाब में अमरिंदर सिंह तथा भाजपा का खाता भी नहीं खुल पाएगा।

पीएम की सुरक्षा मुद्दा राजनीतिक स्टंट
प्रधानमंत्री की सुरक्षा में हुई चूक के मुद्दे पर चिकित्सा मंत्री ने कहा कि यह एक राजनीतिक स्टंट है। प्रधानमंत्री का काफिला 10 किलोमीटर दूर था और रैली में लगाई 70 हजार कुर्सियों पर सिर्फ 700 लोग ही पहुंचे थे। इसलिए प्रधानमंत्री रैली में भाग नहीं लेना चाहते थे। अगर वे रैली में भाग लेना चाहते तो हेलिकॉप्टर से भी सभास्थल पर पहुंच सकते थे। उन्होंने कहा कि वे सभी पीएम की लंबी उम्र व स्वस्थ रहने की कामना करते हैं, लेकिन जिस तरह से उन्होंने पंजाबियों की भावनाओं को आहत किया गया है यह पीएम को शोभा नहीं देता। यह एक राजनीतिक नाटक है।

कंटेंट सपोर्ट: कमलेश आसीका, लालसोट

खबरें और भी हैं...