विरोध प्रदर्शन:उप जिला स्तरीय अस्पताल में चिकित्सा व्यवस्था चरमराई, मरीजों ने अस्पताल का गेट बंद कर किया विरोध प्रदर्शन

दौसा20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
लालसोट|अस्पताल का गेट बंद कर विरोध प्रदर्शन करते मरीज। - Dainik Bhaskar
लालसोट|अस्पताल का गेट बंद कर विरोध प्रदर्शन करते मरीज।

उपखंड मुख्यालय पर चरमराती चिकित्सा व्यवस्था व चिकित्सकों की अनुपस्थिति के कारण खाली पड़े चैंबरों से आक्रोशित मरीजों व परिजनों ने उप जिला स्तरीय हॉस्पिटल का गेट बंद कर विरोध प्रदर्शन किया। लोगों ने रोष प्रकट करते हुए कहा कि ड्यूटी समय में चिकित्सक अनुपस्थित रहते हैं जिसके कारण मरीजों को घंटों तक लाइन में खड़ा रहना पड़ता है। दूसरी तरफ कई चिकित्सक मरीजों का उपचार करने की जगह आगे दिखा लो कहकर टरका देते हैं।

हालत यह है कि मात्र 2 चिकित्सक मौजूद थे। बाकी चिकित्सकों के कमरे खाली पड़े हुए थे। एक चिकित्सक होम्योपैथिक का है जो मरीजों का उपचार करने की जगह आगे दिखा लो कहकर टरका देते हैं।पीड़ित रघुवीर सिंह, शंभूलाल तथा अमन कुमार ने बताया कि अस्पताल में सुबह के आए बैठे हैं मगर चिकित्सक ड्यूटी पर ही नहीं आए। उनके चैंबर खाली पड़े हैं। लोगों की लंबी कतार चैंबरों के आगे लगी है। घंटों इंतजार करने के बावजूद चिकित्सकों के नहीं आने से मरीजों का धैर्य टूट पड़ा और प्रशासन तक आवाज पहुंचाने के लिए अस्पताल के गेट का दरवाजा बंद करके विरोध प्रदर्शन करना पड़ा है। रघुवीर सिंह ने बताया कि वह 3 दिन से अस्पताल में इलाज के लिए आ रहा है मगर चिकित्सक ड्यूटी पर नहीं है। कई अन्य लोगों ने भी कमोबेश यही दर्द बताया।

कहा, नेताओं के जन्मदिवस कार्यक्रमों में फल वितरण करने के लिए तो स्थानीय नेता जुटे रहते हैं मगर आम आदमी की समस्या समाधान के लिए कोई नजर नहीं आता है। पीड़ितों ने कलेक्टर से मामले की जांच कर दोषी लोगों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ.धीरज शर्मा सूचना पर मौके पर पहुंचे और हालात का जायजा लिया। कहा, अस्पताल में चिकित्सा सुविधाएं मुहैया की गई है। शिक्षकों की ड्यूटी के लिए रोस्टर जारी किया गया है। लोगों की असुविधा दूर करने के लिए चिकित्सकों की ड्यूटी चार्ट को डिस्प्ले किया जाएगा ताकि लोग भ्रमित नहीं हो।

खबरें और भी हैं...