• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Dausa
  • New Ones Will Open In The District, 11 English Medium Schools Will Start With Admission In This Session Till 8th Standard, Orders Issued By The Directorate

11 नए इंग्लिश मीडियम स्कूल खुलेंगे:जिले में नए इंग्लिश मीडियम स्कूलों में इसी सेशन में शुरू होगा एडमिशन, निदेशालय ने जारी किए आदेश, मध्यम व पिछड़े तबके के लोगों को मिलेगा लाभ

दौसाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दौसा में महात्मा गांधी मॉडल स्कूल। - Dainik Bhaskar
दौसा में महात्मा गांधी मॉडल स्कूल।

माध्यमिक शिक्षा निदेशालय ने जिले में 11 नए महात्मा गांधी अंग्रेजी मीडियम स्कूल खोलने के आदेश जारी किए है। इन स्कूलों में इसी सत्र से पढ़ाई-लिखाई भी शुरू कर दी जाएगी। मौजूदा समय में दौसा जिले में 3 ही महात्मा गांधी राजकीय विद्यालय संचालित हैं, जिसमें सबसे पहले महात्मा गांधी रेलवे स्कूल विद्यालय खोला गया। उसके बाद पिछले साल बांदीकुई स्थित कुटी राउमावि व दौसा ब्लॉक में राउमावि छतरी वाली स्कूल महात्मा गांधी शुरू हुई।

इन स्कूलों में होगी अंग्रेजी मीडियम की पढ़ाई
जिले के 11 सरकारी स्कूलों में अंग्रेजी माध्यम खोलने की घोषणा की गई है। उसमें दौसा में राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय बसवा, राबाउमावि मानपुर, राबाउमावि गीजगढ़, राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय सिकंदरा, राबाउमावि भांडारेज, राबाउमावि सैंथल, यूपीएस दौस खुर्द, राबामावि पापड़दा, राबाउमावि डीडवाना, रामावि रामगढ़ पचवारा व रामावि खोहरा पाड़ा लालसोट शामिल हैं। नए खोले गए महात्मा गांधी स्कूलों में प्रारंभ में 1 से 8वीं क्लास तक बच्चों को प्रवेश दिया जाएगा, जिसके बाद हर साल एक क्लास बढ़ते हुए 12वीं तक प्रवेश मिलेगा।

इसी सेशन में शुरू होंगे एडमिशन
इन स्कूलों में एडमिशन इस सत्र से शुरू होंगे, ऐसे में संभवत: दीपावली तक स्टाफ की भर्ती के लिए भी प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी। महात्मा गांधी स्कूलों में शुरुआत में 1 से 8 में प्रवेश दिया जाता है, जहां सभी किताबें अंग्रेजी में होती हैं। कक्षा 1 से 5 तक में 30, 6 से 8 में 35 और 9 से 12 में प्रत्येक क्लास में 60-60 छात्रों को एडमिशन दिया जाता है, जिनका चयन लॉटरी से किया जाता है।

मध्यम व पिछड़े तबके के लोगों को मिलेगा लाभ
जिले में बहुत से लोग ऐसे हैं जो अपने बच्चों को प्राइवेट स्कूल में पढ़ाने की तमन्ना रखते हैं, लेकिन मोटी फीस के कारण उनके लिए यह संभव नहीं हो पाता है। ऐसे में अब अभिभावक बिना किताब और मोटी फीस के झंझट से दूर अपने बच्चों को महात्मा गांधी सरकारी स्कूलों में अंग्रेजी मीडियम में पढ़ा सकेंगे।

इंटरव्यू के जरिए होगी शिक्षकों की भर्ती
महात्मा गांधी अंग्रेजी मीडियम स्कूलों में शिक्षकों की भर्ती के लिए वेकेंसी जारी की जाती है, जिसमें शिक्षा विभाग के अंतर्गत सेकंडरी व प्राइमरी सेटअप में कार्यरत शिक्षकों के इंटरव्यू लिए जाते हैं। इसमें लेवल-1 व लेवल-2 के शिक्षकों के चयन के लिए जिला स्तर पर तथा ग्रेड सेकंड व फर्स्ट के शिक्षकों का इंटरव्यू संभाग लेवल पर होता है। प्रधानाचार्य का चयन डायरेक्टर के स्तर पर किया जाता है।

खबरें और भी हैं...