• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Dausa
  • Relatives Said The Young Man Is Still Alive, Will Not Allow The Post mortem, The Logic Of The Police Only After Being Declared Dead, The Body Was Kept In The Mortuary

करंट से युवक की मौत पर बवाल:परिजन बोले- युवक अभी जिंदा है, पोस्टमार्टम नहीं होने देंगे, पुलिस का तर्क- मृत घोषित किए जाने के बाद ही शव मोर्चरी में रखवाया

दौसा4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दौसा। जिला अस्पताल में शव की जांच करते डॉक्टर, मौके पर मौजूद पुलिस। - Dainik Bhaskar
दौसा। जिला अस्पताल में शव की जांच करते डॉक्टर, मौके पर मौजूद पुलिस।

जिले के सदर थाना क्षेत्र में करंट लगने से एक युवक की मौत हो गई। हादसा गुरुवार शाम को चैना का बास में हुआ। युवक बिजली का तार लगा रहा था। इस दौरान करंट लगने से वह अचेत हो गया। पड़ोस के लोग युवक को लेकर जिला अस्पताल पहुंचे, जहां डॉक्टरों ने जांच के बाद उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने शव को मोर्चरी में रखवा दिया। हादसे की सूचना पर बड़ी तादात में अस्पताल पहुंचे परिवार के अन्य लोगों ने हंगामा कर दिया। उनका है कि युवक की अभी मौत नहीं हुई है, लेकिन डॉक्टरों व पुलिस ने उसे मोर्चरी में रखवा दिया। परिजन पोस्टमार्टम नहीं कराने पर अड़े हुए हैं। मौके पर दो थानों का पुलिस जाप्ता तैनात किया गया है।

जांच के बाद मृत घोषित किया

जिला अस्पताल चौकी प्रभारी बीएल मिश्रा ने बताया कि चैना का बास निवासी युवक भरतलाल (18) को परिजन इमरजेंसी में लेकर आए थे। डॉक्टरों ने करीब आधा घंटे तक इलाज व जांच करने के बाद उसे मृत घोषित कर दिया। साथ आए लोगों ने करंट लगने की जानकारी दी थी। युवक की अंगुली भी जली हुई है, लेकिन परिजन कह रहे हैं कि युवक अभी जीवित है। उनकी मांग की है कि पोस्टमार्टम से पहले युवक की फिर से मेडिकल जांच हो।

मोर्चरी के बाहर बैठे परिजन

सूचना पर डिप्टी एसपी कालूराम मीणा, कोतवाल लाल सिंह व सदर थाना प्रभारी अस्पताल पहुंचे। डिप्टी एसपी परिजनों से बातचीत कर समझाने का प्रयास कर रहे हैं, लेकिन वे युवक की दोबारा जांच कराने पर अड़े हैं। ऐसे में परिजन मोर्चरी के बाहर धरने पर बैठ गए। उनका कहना है कि जब तक उनकी बात नहीं सुनी जाएगी, तब तक पोस्टमार्टम नहीं होने देंगे।

खबरें और भी हैं...